टेस्ट इतिहास में पहली बार भारत ने अफ्रीका का किया सफाया, टूटे कई रिकॉर्ड्स

रांची टेस्ट के चौथे दिन मंगलवार को भारत ने साउथ अफ्रीका को पारी और 202 रनों से रौंद दिया. भारत को टेस्ट सीरीज जीतने के बाद फ्रीडम ट्रॉफी सौंपी गई है. तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में विराट कोहली की सेना ने साउथ अफ्रीका का 3-0 से सूपड़ा साफ कर दिया है. टीम इंडिया का यह 27 साल में पहली बार दक्षिण अफ्रिका के खिलाफ क्लीन स्वीप है.

आईसीसी रैंकिंग में नंबर वन पर काबिज भारतीय टीम ने इसी के साथ ही टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में पहली बार दक्षिण अफ्रीका का तीन या उससे ज्यादा मैचों की टेस्ट सीरीज में सूपड़ा साफ किया है. री-एडमिशन के बाद दक्षिण अफ्रीका का भारत ने पहली बार सफाया किया है. री-एडमिशन के बाद दक्षिण अफ्रीका का तीन या उससे ज्यादा मैचों की टेस्ट सीरीज में तीसरी बार सफाया हुआ है.

BCCI

@BCCI

11th straight series win at home for 🙌🙌
Upwards & onwards from here on 🇮🇳🇮🇳😎👌 @Paytm

Embedded video

804 people are talking about this

री-एडमिशन के बाद दक्षिण अफ्रीका

0-3 बनाम ऑस्ट्रेलिया  2001/02

0-3 बनाम ऑस्ट्रेलिया  2005/06

0-3 बनाम भारत  2019/20

पारी के लिहाज से दक्षिण अफ्रीका की सबसे बड़ी हार

पारी और 360 रन बनाम ऑस्ट्रेलिया, जोहानिसबर्ग, 2001/02

पारी और 259 रन बनाम ऑस्ट्रेलिया, पोर्ट एलिजाबेथ, 1949/50

पारी और 202 रन बनाम इंग्लैंड, केपटाउन, 1888/89

आपको बता दें कि रांची टेस्ट में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी 9 विकेट पर 497 रन बनाकर घोषित कर दी थी. जवाब में दक्षिण अफ्रीका अपनी पहली पारी में 162 रनों पर ऑलआउट हो गई. पहली पारी के आधार पर भारत को 335 रनों की बढ़त मिली. अफ्रीकी टीम फॉलोऑन नहीं बचा पाई, जिसके बाद उन्हें फिर से बल्लेबाजी के लिए उतरना पड़ा.

फॉलोऑन मिलने के बाद दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका 133 रन पर ढेर हो गई. इसी के साथ ही विराट ब्रिगेड ने महाजीत का तोहफा दे दिया. दक्षिण अफ्रीका के लिए थयूनिस डि ब्रूइन ने 30 और जॉर्ज लिंडे ने 27 रन बनाए. भारत के लिए मोहम्मद शमी ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए. शहबाज नदीम और उमेश यादव को 2-2 विकेट मिले.