ऐतिहासिक जीत के बाद रवि शास्त्री का बड़ा बयान, कहा एक ही दादा, भाड़ में जाए…

टीम इंडिया ने रांची टेस्ट में एकतरफा जीत हासिल की, खेल के चौथे दिन महज 12 गेंदों में ही दो विकेट हासिल कर मेहमान टीम की पारी समेट दी, टीम इंडिया ने इसके साथ ही तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 3-0 से अपने नाम कर पहली बार दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ क्लीन स्वीप किया, इस जीत से मुख्य कोच रवि शास्त्री काफी उत्साहित नजर आये, और देश में एक बड़ा बयान दे दिया।

शास्त्री ने कहा भाड़ में गई पिच
जीत के बाद कमेंटेटर संजय मांजरेकर ने मुख्य कोच रवि शास्त्री से जीत का राज पूछा, तो उन्होने कहा कि वो ऐसी टीम चाहते हैं, जो हर पिच पर जीत हासिल करे, शास्त्री ने कहा कि हमारा लक्ष्य पिच को खेल से बाहर करना था, भाड़ में गई पिच, चाहे वो जोहानिसबर्ग हो, मेलबर्न हो या मुंबई, हम दुनिया में हर जगह जीतना चाहते हैं, हमें बस बीस विकेट लेने हैं, टीम की बल्लेबाजी जबरदस्त है, वो चल गई गई, तो फरारी चल गई, हमें बस 5 गेंदबाज चाहिये, जो बीस विकेट ले सकें, जो कि हमारे पास हैं।

रोहित ने बदला खेलने का अंदाज
शास्त्री ने रोहित की बल्लेबाजी की भी तारीफ की, उन्होने कहा कि रोहित को पहले दो घंटे में संभलकर बल्लेबाजी करने का ईनाम मिला, रोहित एक अलग ही चीज है, उन्होने अपनी मानसिकता बदली, वो पहले दो घंटे संभलकर खेले, अगर कठिन समय निकाल दिया, तो फिर दादा एक ही होता है, रोहित ने इस सीरीज में कमाल कर दिया।

रोहित मैन ऑफ द मैच और सीरीज
मालूम हो कि पहली बार बतौर टेस्ट ओपनर खेल रहे रोहित शर्मा को मैन ऑफ द मैच और सीरीज का अवॉर्ड मिला, उन्होने तीन मैचों की चार पारियों में 529 रन बनाये, जिसमें तीन शतक भी शामिल है, हिटमैन ने इस सीरीज में सबसे ज्यादा 19 छक्के लगाये, उनका औसत 132.25 का रहा।शाहबाज नदीम से भी प्रभावित
रवि शास्त्री ने जीत के बाद डेब्यू टेस्ट खेलने वाले बायें हाथ के स्पिन गेंदबाज शाहबाज नदीम की जमकर तारीफ की, उ्नहोने कहा कि नदीम से मैं बहुत प्रभावित हूं, वो क्लासिक बायें हाथ के गेंदबाज हैं, उन्होने जबरदस्त शुरुआत की, पहले तीन ओवर मेडन फेंके, डोमेस्टिक क्रिकेट का उनका अनुभव काम आया। उन्होने जीत का श्रेय पूरी टीम को दिया और कहा ये टीम की जीत है।