एनसीपी नेताओं से अजित पवार ने कहा, ‘फैसले से पीछे नहीं हटूंगा, पार्टी बीजेपी का साथ दे’

मुंबई। महाराष्ट्र में राजनीतिक उठापटक जारी है. एनसीपी की अहम बैठक जारी है. शरद पवार भी इस बैठक में शामिल हैं. धनंजय मुंडे भी एनसीपी की बैठक में भाग लेने पहुंचे. मुंडे ने ही अजीत पवार के साथ विधायकों को अपने पक्ष में किया और बीजेपी के समर्थन के लिए उन्हें तैयार किया. अब वही मुंडे एनसीपी की बैठक में भाग लेने पहुंचे. मुंडे अजीत पवार के खास बताए जाते हैं. इनके पीए फडणवीस की शपथ ग्रहण समरोह में भी दिखाई दिए थे. महाराष्ट्र के बीड इलाके से चुनाव जीतकर आए हैं. बीजेपी की धाकड़ नेता और अपनी चचेरी बहन पंकजा मुंडे को चुनाव मे हराया है. एनसीपी की बैठक में 54 में से सिर्फ 45 विधायक पहुंचे.

अजित पवार के मुंबई स्थीत ब्राइटन इमारत में अजित पवार को मनाने आए एनसीपी के नेता हसन मुशरिफ, सुनील तटकरे , दिलीप वलसे पाटिल को अजित पवार ने साफ शब्दों में कहा कि वह अपने निर्णय से पीछे नही हटेंगे. पार्टी को बचाना है तो एनसीपी बीजेपी को सपोर्ट करे. वर्ना कुछ विधयक जो मीटिंग में आ रहे हैं, वह लगातार बीजेपी के संपर्क में हैं. और अंत मे कहा वे अपने निर्णय से पीछे नही हटेंगे.

अजीत पवार को मनाने की कोशिश जारी है. सूत्रों के मुताबिक, अजीत पवार के साथ सिर्फ 5 विधायक रहे गए है जिनके नाम बालासाहेब पाटिल, अनिल पाटिल, नरहरि जिरवाल, धनंजय मुंडे और दौलत दरोडा शामिल हैं. अजीत अगर नहीं मानें तो पार्टी उन पर कार्रवाई करेगी. उधर, शिवसेना के सभी नाराज, क्रोधित, उदास और मायूस विधायकों को सांत्वना देने और उनकी हिम्मत बनाए रखने के लिए उद्धव ठाकरे ललित होटल पहुंचे. विधायकों के साथ बैठक की. शिवसेना के 56 विधायक बैठक में पहुंचे. 4 निर्दलीय विधायक भी बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे

कांग्रेसी नेता विजय वडेटटीवार के घर पर आए विधायक में से कुछ विधायक दो कार में बैठकर रवाना हुए. पूछने पर कोई जानकारी नहीं दी. यानी कांग्रेस पार्टी के विधायको को आदेश दिया गया है कि वो अपनी लोकेशन के बारे में कुछ ना बताएं. सूत्रों का कहना है कि इन विधायको को गुप्त तरीके से मुंबई के बाहर ले जाने की तैयारी हो रही है.