पंजाब कांग्रेस में फूट ! ‘नाराज’ सिद्धू के साथ मिलकर खेल करने की तैयारी में AAP, पूरी खबर पढ़ें

नई दिल्ली।  महाराष्‍ट्र, मध्‍य प्रदेश के सियासी बवाल की खबरों के बीच अब धुंआ पंजाब से उठ रहा है । पंजाब कांग्रेस में हलचल की खबरें तेज हैं । कैप्‍टन अमरिंदर की कुर्सी संकट में बताइ्र जा रही है । दरअसल,  आम आदमी पार्टी ने एक बड़ी सियासी चाल चलते हुए सत्ताधारी कांग्रेस के करीब 40 नाराज विधायकों और नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब में उनके साथ मिलकर सरकार बनाने की अपील की है । 19 विधायकों वाली आम आदमी पार्टी की ये सियासी चाल सुर्खियों में है ।

आम आदमी पार्टी ने किया दावा
आम आदमी पार्टी के पंजाब को-प्रेसिडेंट और विधायक अमन अरोड़ा ने एक बयान जारी किया है ।इस बयान के जरिए अरोड़ा ने अपील की है कि नाराज कांग्रेस विधायक उनसे मिल जाएं और नई सरकार बनाने का दावा पेश करें । अरोड़ा ने दावा किया है कि कांग्रेस के कई विधायक पार्टी से नाराज़ चल रहे हैं । उन्होंने कहा –  ‘फोन टैपिंग और सरकार में बात ना सुने जाने से कांग्रेस के 4 विधायक नाराज़ हैं । इन सबने दावा किया है कि कांग्रेस के 40 ऐसे विधायक हैं जो कि कैप्टन अमरिंदर सिंह और पार्टी से नाराज हैं । इसलिए हम चाहते हैं कि नवजोत सिंह सिद्धू, आम आदमी पार्टी के 19 और कांग्रेस के 40 विधायकों के साथ एक मंच आ जाएं।’  कांग्रेस के विधायक हैं नाराज़ !
अमन अरोड़ा के मुताबिक आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर ये तमाम नाराज विधायक पंजाब मेंनई सरकार बनाकर जनता से किए गए अपने वादों को पूरा कर सकते हैं । दरअसल अरोड़ा का ये बयान उन हालातों में आ रहा है जिसमें पिछले दिनों कांग्रेस के चार विधायकों ने आरोप लगाया था कि पंजाब पुलिस उनके फोन कॉल्स को टैप कर रही है । ये चारों नाराज विधायक मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के जिला पटियाला के विधानसभा क्षेत्रों से ही हैं । ये विधायक हैं हरदयाल सिंह कंबोज, मदन लाल जलालपुर, निर्मल सिंह शुत्राना और काका राजिंदर सिंह । मुख्‍यमंत्री के खिलाफ नाराजगी
विधायकों का आरोप है कि अफसरशाही विधायकों पर हावी है और अफसर उनकी एक नहीं सुनते । इन चारों विधायकों ने कहा कि उनकी तरह ही करीब 40 और कांग्रेस के विधायक कैप्टन से नाराज़ चल हैं । विधायक का दावा है कि वे सब एकजुट हो रहे हैं । जब ये खबर सामने आई तो आम आदमी पार्टी ने अपना खेल शुरू किया । आप ने कांग्रेस के नाराज 40 विधायकों और नवजोत सिंह सिद्धू को आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाने का फार्मूला पेश किया है । आपको बता दें फिलहाल पंजाब विधानसभा की कुल 117 सीटों में से कांग्रेस के पास 80, आप के पास 19, शिरोमणि अकाली दल के पास 14 और बीजेपी के पास 2 सीटें हैं । जबकि लोक इंसाफ पार्टी के पास भी 2 सीटें मौजूद हैं ।