CAA UP Protest LIVE : जुमे की नमाज के बाद हिंसा की चपेट में यूपी के कई जिले, दो लोगों की मौत की चर्चा

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर गुरुवार को लखनऊ सहित कई जिलों में बवाल के बाद आज जुमे की नमाज के बाद के माहौल पर सभी की निगाह थी। पुलिस की तमाम सक्रियता के बाद भी एक दर्जन से अधिक जिले भयंकर हिंसा की चपेट में हैं। फिरोजाबाद और बिजनौर में एक-एक व्यक्ति की मौत होने की चर्चा है। मेरठ में भी एक उपद्रवी को गोली लगी है। हालांकि अभी पुलिस इस समाचार की पुष्टि नहीं कर रही है। फीरोजाबाद और मेरठ में एक-एक पुलिसकर्मी के गोली लगने से घायल होने की सूचना है।

फिरोजाबाद के साथ ही गोरखपुर, मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, बहराइच, बलरामपुर, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, गोरखपुर, कानपुर, उन्नाव, भदोही तथा गोंडा में भीड़ ने माहौल खराब किया है। नमाज के बाद इन लोगों ने पुलिस पर पथराव किया। इसके बाद पुलिस ने इन लोगों पर नियंत्रण करने के लिए लाठीचार्ज किया। फिरोजाबाद में पुलिस चौकी को आग के हवाले करने के बाद भीड़ ने हाईवे पर कब्जा कर लिया। इस दौरान पुलिस पर काफी फायरिंग भी की गई है। फिलहाल सभी जगह पर स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन माहौल में तनाव बना है।

फीरोजाबाद में एक मौत की सूचना, सिपाही को भी गोली लगी

नागरिकता संशोधन कानून का विरोध ब्रज में भी सड़कों पर आ गया। आज फीरोजाबाद में नमाज अदा कर रहे लौट रहे लोगों ने बवाल कर दिया। शहर के नालबंद इलाके में उन्होंने पथराव किया और पुलिस चौकी के बाहर खड़े वाहनों में आग लगा दी। दोपहर दो बजे के आसपास जामा मस्जिद से नमाज अदा कर लोग जुलूस के रूप में नालबंद पहुंचे। वहां की मस्जिद से निकले लोग भी उनमें शामिल हो गए। इसके बाद बवाल शुरू कर दिया। सीएए का विरोध कर रहे लोगों ने चौकसी के लिए तैनात पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया गया। बचाव में पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। इसके बाद भी आक्रोशित लोग शांत नहीं हुए। उन्होंने नालबंद पुलिस चौकी के बाहर खड़े वाहनों को आग के हवाले कर दिया। बाइक जलकर खाक हो गई।

आनन-फानन में फीरोजाबाद में चौकसी कड़ी कर दी गई है। हाईवे पर आ रहे वाहनों को रोक दिया गया। आसपास के थानों की पुलिस भी बुला ली गई । इस दौरान फायरिंग में एक प्रदर्शनकारी की मौत की सूचना है, जबकि एक सिपाही गंभीर रूप से घायल है। लोगों ने कई स्थानों पर उपद्रव किया। नालबंद पुलिस चौकी में आग लगा दी। कानपुर हाईवे पर कब्जा कर पुलिस पर फायरिंग की। नारखी इंस्पेक्टर ब्रजेश कुमार सिंह को घेरकर उनकी पिस्टल छीन ली। उनकी गाड़ी भी तोड़ दी। उपद्रवियों ने कई वाहन भी आग के हवाले कर दिए है। इंस्पेक्टर सहित तीन पुलिस कर्मी अब तक घायल हो गए हैं। स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। बचाव में पुलिस को आंसु गैस के गोले दागने पड़े। इसके बाद भी आक्रोशित लोग शांत नहीं हुए।

मेरठ में पुलिस और प्रदर्शनकारियों में आमने-सामने फायरिंग

मेरठ में कोतवाली क्षेत्र में तोड़फोड़ कर रही भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। खत्‍ता रोड में पुलिस की दो गाड़ियों को आग लगा दी। उपद्रवियों ने इस्‍लामाबाद पुलिस चौकी फूंक दी है। पुलिस और प्रदर्शनकारियों में आमने-सामने फायरिंग हो रही है। मेरठ के तारापुरी क्षेत्र में उपद्रव‍ियों ने पुलिस के 30 रिक्रूट को बंधक बनाया। एसपी देहात ने भारी फोर्स के साथ सभी को मुक्‍त कराया। आरएएफ के एक और जवान को गोली लगी। एक बारगी अधिकारियों को उल्‍टे पांव लौटना पड़ा। हालात बेहद तनावपूर्ण है। शहर के अन्‍य हिस्‍सों में भी प्रदर्शन जारी है।

बहराइच में पथराव

बहराइच में शहर के घंटाघर इलाके में जुमे की नमाज के बाद लोग नागरिकता कानून के विरोध में सड़क पर उतर आए। पुलिस ने उन्हें रोकना चाहा तो पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने भीड़ को काबू में करने के लिए लाठीचार्ज किया। छह बार आंसू गैस के गोले दागे गए हैं। पुलिस ने जब उन्हे रोकने की कोशिश की तो मौजूद भीड़ में कुछ उपद्रवियों ने पीछे से पथराव करना शुरू कर दिया। इसको देखते हुए पहले तो पुलिस ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन जब प्रदर्शनकारी उग्र हो गए तो पुलिस ने लाठियां भांजनी शुरू कर दी। इस पर भी जब प्रदर्शनकारी नहीं माने तो आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए।

गोरखपुर में भीड़ उग्र

गोरखपुर में जुमे की नमाज के बाद लोग जुलूस की शक्ल में घंटाघर की ओर बढ़ रहे थे। कोतवाली इलाके के नखास चौक पर पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो जुलूस में शामिल लोगों ने पुलिस पर पथराव किया। पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को भगाया है। आंसू गैस के गोले भी दागे गए हैं। गोरखपुर में भीड़ उग्र हो गई। जुलूस के दौरान मदीना मस्जिद तिराहे पर विवाद हो गया। नखास और रेती चौके के बीच भीड़ ने पथराव किया। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। रेती-नखास रोड पर आवागमन बंद। अधिकांश क्षेत्रों में दुकानें बंद करा दी गई हैं। वर्तमान में हालात तनाव पूर्ण है, लेकिन स्थिति पर काबू पा लिया गया है। कोतवाली इलाके में नखास चौराहे पर उग्र प्रदर्शन शुरू कर दिया। रोकने पर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील है। जुमे की नमाज के बाद जामा मस्जिद से कुछ युवा नारेबाजी करते हुए निकले थे। पुलिस उन्हें रोकने की कोशिश कर रही थी। इसी बीच नखास छचौराहे पर भीड़ एकत्र हो गई और सरकार विरोधी नारे लगाना शुरू कर दिया।

कानपुर और उन्नाव में पुलिस पर पथराव

कानपुर और उन्नाव में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया। उन्हें रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। उन्नाव में जामा मस्जिद से जुलूस की शक्ल में लोग सड़कों पर उतरे और सरकार विरोधी नारे लगाए। पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो तीखी झड़प हुई। पुलिस ने खदेड़कर भीड़ को तितर-बितर किया है। शहर में दुकानें बंद कराई जा रही हैं। संवेदनशील इलाकों में आरएएफ, पीएसी ने मार्च किया है। भदोही में नगर कोतवाली इलाके में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में मुस्लिमों ने जुमे की नमाज के बाद जुलूस निकाला। इस दौरान पुलिस पर प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया। पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। कानपुर में प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच भिड़ंत हो गई। कानपुर में नमाज पढऩे के बाद जुलूस निकला रहे प्रदर्शनकारियों को जब पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो भीड़ ने पत्थरबाजी की। प्रदर्शनकारियों की योजना कानपुर के पास मौजूद यतीमखाने में जलसा करने की थी, मगर पुलिस ने वहां पहुंचने से पहले ही रोकने की कोशिश की, जिसके बाद भगदड़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। प्रदर्शनकारियों ने मरी कंपनी पुल को कब्जे में ले लिया, जिसे पुलिस ने खाली कराने की कोशिश की, जिसके बाद दोनों में संघर्ष बढ़ गया। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की चार बाइकें भी फूंक दी। कानपुर के पास ही परेड चौक पर नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन किया। डीएम विजय विश्वास ने कहा कि प्रदर्शनकारियों को समझाया बुझाया गया। हमने किसी पर भी लाठीचार्ज नहीं किया।

बुलंदशहर में पुलिस पर फायरिंग 

बुलंदशहर के ऊपरकोट मोहल्‍ले में दस हजार की भीड़ ने तकरीर के बाद नारेबाजी और प्रदर्शन शुरू कर दी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की तो भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ साथ फायरिंग भी कर दी। जिसके बाद हालात और बिगड़ गए और पुलिस को भी फायरिंग करनी पड़ी। अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। उग्र हुई भीड़ ने पुलिस की गाड़ियों पर पथराव कर दिया और कुछ गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। यहां पर हालात को नियंत्रित करने की कोशिश की जा रही है।

शिकोहाबाद में निकाला जुलूस, बाजार बंद

फीरोजाबाद जिले के शिकोहाबाद शहर में भी  नमाज अदा करने के बाद मुसलमानों ने सड़क पर काली पट्टी बांधकर जुलूस निकाला। पुलिस फोर्स भी उनके साथ रहा। जुलूस में नारेबाजी होने से कुछ देर के लिए बाजार भी बंद हो गया। हालांकि करीब आधा घंटे बाद मुस्लिम समुदाय के लोग अपने घरों को चले गए।

सीतापुर के लहरपुर में नमाज के बाद बवाल किया गया। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पोस्टर फाड़े गए। मुस्लिम समुदाय के हजारों लोग सड़कों पर उतरे थे। पुलिस बल ने लाठियां फटकार कर उन्हें मौके से खदेड़ा है। बिजनौर के नटहौर में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन हुए। यहां अचानक भीड़ बेकाबू हो गई। पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया गया। दो पुलिसकर्मियों समेत 12 लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने लाठीचार्ज कर लोगों को तितर-बितर किया है।

मुजफ्फरनगर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के कच्ची सड़क पर नागरिकता संशोधन बिल का विरोध कर रहे लोगों की भीड़ सड़क पर उतरी। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो वह पुलिस से भिड़ गए। प्रदर्शनकारिरयों ने गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ हुई। पुलिस ने लाठीचार्ज करके लोगों को शांत किया। हाथरस के सिकंदराराऊ कोतवाली इलाके में जामा मस्जिद के पास प्रदर्शनकारियों ने बवाल किया है। पथराव में चार पुलिसकर्मी व दो स्थानीय घायल हुए हैं। बुलंदशहर में भी बवाल हुआ। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया।

मुरादाबाद में जामा मस्जिद में नमाज के बाद करीब हजार लोग जीआईसी चौक पर विरोध में उतरे। यहां पर आरएएफ, पीएसी व पुलिस लगा दी गई है। नागरिकता कानून के विरोध में काले गुब्बारे उड़ाए गए और सरकार विरोधी नारे लगे। लोग धरने पर बैठ गए हैं।

मुजफ्फरनगर व बिजनौर में पथराव-लाठीचार्ज  

मुजफ्फरनगर शहर के मीनाक्षी चौक पर भीड़ ने अचानक पत्‍थरबाजी कर दी, जिसमें एक सिपाही सामीर अली घायल हो गए हैं। पुलिस फोर्स कम होने के कारण यहां पर भीड़ नियंत्रण से बाहर है। मौके पर सिटी मजिस्‍ट्रेट पुलिस बल के साथ मौजूद हैं। वहीं शहर के कच्‍ची सड़क पर मदीना चौक पर भीड़ को रोकने की कोशिश करने पर भीड़ ने वाहनों में तोड़फोड़ कर दी। यहां पर भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। बिजनौर के नहटौर, धामपुर, नगीना में पथराव की सूचना है। इन तीनों इलाकों में अनियंत्रित भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया वहीं पुलिस को भी भीड़ पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। जबकि बिजनौर में जामा मस्जिद के बाहर हजारों की भीड़ और पुलिस बल आमने सामने है।

बिजनौर में जामा मस्जिद के बाहर एकत्रित भीड़ साढ़े तीन बजे के करीब शहर की ओर चल पड़ी। सिविल लाइन जजी के पास उग्र भीड़ ने अचानक वाहनों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। फायिरंग भी हुई। पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। सहारनपुर में जुमे की नमाज के बाद शहर की सभी मस्जिदों से हजारों की संख्‍या में भीड़ शहर घंटाघर पहुंची। भीड़ ने पुलिस द्वारा लगाए गए सभी बेरीकेडिंग भी गिरा दिए, देवबंद में भी हजारों प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए थे।

सहारनपुर में सड़कों पर उतरे लोग

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में सहारनपुर में जुमे की नमाज के बाद शहर की सभी मस्जिदों से हजारों की संख्या में भीड़ शहर घंटाघर की बढ़ रही है। भीड़ ने पुलिस के सभी बैरीकेडिंग भी गिरा दिए हैं। इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। भीड़ प्रदर्शन करते हुए नारे लगा रही है। नमाज पढ़कर लौट रहे लोगों ने मोदी सरकार के नागरिकता संशोधन कानून को पूरी तरह से गलत बताया। वरिष्ठ अफसर भी मौके पर ही मौजूद हैं। किसी प्रकार की हिंसा की कोई सूचना नहीं है। दूसरी ओर देवबंद में भी हजारों लोग बीच बाजार आ गए हैं। यहां पर लोग मोदी सरकार के विरोध में नारेबाजी कर रहे हैं। वहीं मेरठ में भी शाही मस्जिद में तकरीर के दौरान शहर काजी ने नागरिकता संशोधन कानून को गलत करार दिया। यहां पर जुमे की नमाज के दौरान बड़ी संख्या में लोग काली पट्टी बांधकर आए थे। शहर काजी ने तकरीर के दौरान सीएए का शांतिपूर्ण ढंग से विरोध जताने की अपील की है।

लखनऊ में टीला वाली मस्जिद में जुमे की नमाज अदा की गई। यहां पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शांतिपूर्ण नमाज अदा की गई। नमाज पढऩे के बाद नमाजी घर गए। हुसैनाबाद इलाके में भी शांति व्यवस्था बहाल है। यहां के खदरा में में भी दुकानें खुली हैं। पुराना लखनऊ में भारी पुलिस फोर्स तैनात है, यहां पर माहौल में शांति है।लखनऊ में गुरुवार को हिंसा के बाद आज पुराने लखनऊ में आरएएफ के साथ सीआरपीएफ को भी तैनात किया गया। पुराने लखनऊ में बड़ी संख्या में फोर्स तैनात है। यहां आरएएफ तथा सीआरपीएफ की कई बटालियन तैनात हैं। पुलिस के साथ पीएसी की कई बटालियन पुराने लखनऊ पहुंची हैं। लखनऊ हिंसा के बाद हाई अलर्ट पर है। लखनऊ में डीएम तथा एसएसपी सड़क पर उतरे हैं। यह लोगों से शांत रहने की अपील कर रहे हैं। इसके साथ ही धर्मगुरुओं से भी शांति की अपील की गई है। यहां पर प्रदर्शन को लेकर लोगों ने दुकानें की बंद है।

उन्नाव में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर पुलिस अलर्ट पर है। डीएम देवेंद्र कुमार पाण्डेय के साथ एसपी विक्रांत वीर के निर्देश पर जिले में कानून-व्यवस्था के मद्देनजर इंटरनेट सेवा बंद है। शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में ड्रोन कैमरों से नजर है। यहां पर आज जुमे की नमाज को लेकर पुलिस तथा जिला प्रशासन अलर्ट पर है। कासगंज में भी डीएम तथा एसपी ने शहर में फ्लैग मार्च किया। डीएम ने आम लोगों को समझाया तथा उनसे शांति बनाए रखने की अपील की।