निर्भया के दोषियों को 1 फरवरी को सुबह छह बजे दी जाएगी फांसी, नया डेथ वारंट जारी

नई दिल्‍ली। निर्भया केस (Nirbhaya case) में ट्रायल कोर्ट ने चारों दोषियों के लिए नया डेथ वारंट जारी किया है. इसके तहत एक फरवरी को सुबह छह बजे उनको फांसी दी जाएगी. इससे पहले निर्भया केस में राष्ट्रपति के पास दोषी मुकेश की दया याचिका खारिज होने के बाद जब पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई तो दिल्‍ली सरकार की तरफ से सरकारी वकील ने कोर्ट को बताया कि मुकेश की दया याचिका राष्ट्रपति ने खारिज कर दी है. किसी दोषी की कोई याचिका कहीं भी लंबित नहीं है. इसलिए नया डेथ वारंट जारी किया जाये. इस पर मुकेश की वकील ने बताया कि वकील को मुकेश से मिलने नहीं दिया जा रहा है. कोर्ट ने तिहाड़ प्रशासन से मुलाकात सुनिश्चित करने को कहा. मुकेश की वकील ने कोर्ट को बताया कि हमें अभी तक इस बात की जानकारी नहीं है कि दया याचिका खारिज हो गयी है. इस पर जेल प्रशासन की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि मुकेश को बता दिया गया है कि उसकी दया याचिका खारिज हो चुकी है.

इससे पहले निर्भया केस (Nirbhaya case) में फांसी की सजा पाए दोषी मुकेश सिंह (Mukesh Singh) की दया याचिका (Mercy Petition) राष्ट्रपति ने खारिज कर दी है. इससे पहले गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने यह या‍चिका राष्ट्रपति को भेजी थी. राष्ट्रपति भवन ने इस फैसले की जानकारी गृह मंत्रालय को भेज दी है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, यह पहले ही साफ कर दिया गया था कि राष्ट्रपति दया याचिका पर फैसला लेने में ज्यादा समय नहीं लगाएंगे. बता दें गुरुवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मुकेश की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश गृहमंत्रालय को भेजी थी.

हाईकोर्ट ने खारिज कर दी थी मुकेश की याचिका
इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को मुकेश की याचिका को खारिज कर दिया था. इस मामले में मुकेश ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर निचली अदालत के डेथ वारंट को खारिज करने की मांग की थी. न्यायाधीश मनमोहन और संगीता ढींगरा सहगल की अध्यक्षता वाली अदालत की एक खंडपीठ ने याचिकाकर्ता मुकेश के वकील से ट्रायल कोर्ट का दरवाजा खटखटाने और ट्रायल कोर्ट को सात जनवरी के आदेश के बाद हाल ही में हुए नए घटनाक्रम से अवगत कराने को कहा. पीठ ने कहा, ‘दया याचिका लंबित होने के बारे में ट्रायल कोर्ट को बताएं.’ मुकेश की ओर से पेश वकील रेबेका जॉन और वृंदा ग्रोवर ने कहा कि वे बहुत जल्द पटियाला हाउस कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे.

क्यूरेटिव याचिका भी हो चुकी है खारिज
सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार (14 जनवरी) को निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले के दोषियों विनय कुमार और मुकेश द्वारा दायर की गई क्यूरेटिव याचिकाओं को खारिज कर दिया था.  इन दोषियों ने ट्रायल कोर्ट द्वारा दी गई मौत की सजा पर सवाल उठाते हुए याचिकाएं दायर की थी. ट्रायल कोर्ट द्वारा दी गई मौत की सजा को बाद में हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने भी बरकरार रखा था.