‘भरोसे लायक नहीं है प्रशांत किशोर, हम खुश हैं कि यह कोरोना वायरस हमें छोड़ रहा है’

नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीआर पर मोदी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वाले जदयू नेता प्रशांत किशोर को अब अपनी ही पार्टी के नेताओं का विरोध झेलना पड़ रहा है। दरअसल, बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू सुप्रीमो नीतीश कुमार के बाद अब जदयू नेता अजय आलोक ने उनको आड़े हाथों लिया है। अजय आलोक ने उन्हें ‘कोरोना वायरस’ करार दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर भरोसे लायक आदमी नहीं हैं।

जदयू नेता अजय आलोक ने मीडिया से बातचीत में कहा, “यह (प्रशांत किशोर) आदमी भरोसेमंद नहीं है। वह मोदी जी और नीतीश जी का भरोसा नहीं जीत सके। वह AAP के लिए काम करते हैं, राहुल गाँधी से बात करते हैं, ममता दीदी के साथ बैठते हैं। कौन उन पर भरोसा करेगा? हमें खुशी है कि यह कोरोना वायरस हमें छोड़ रहा है, वह जहाँ चाहे वहाँ जा सकते हैं।”

ANI

@ANI

Ajay Alok, JDU on Prashant Kishor: This man is not trustworthy.He could not win the trust of Modi ji and Nitish ji. He works for AAP, talks to Rahul Gandhi, sits with Mamata didi. Who will trust him? We are happy this is leaving us, he can go wherever he wants to.

View image on Twitter
1,785 people are talking about this

गौरतलब है कि इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पार्टी उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर के बारे में कहा था कि यदि कोई ट्वीट कर रहा है तो करे। जब तक किसी की पार्टी में रहने की इच्छा करेगी, तब तक वह रहेगा और जाना चाहेगा तो जाए। नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर को लेकर कहा कि अमित शाह के कहने पर ही उन्हें पार्टी में लिया था, अब उन्हें जाना है तो जाए।

यहाँ बता दें कि प्रशांत किशोर पिछले कुछ समय से ट्विटर के जरिए नागरिकता संशोधन एक्ट के मसले पर पार्टी के फैसले पर सवाल खड़े कर रहे थे। इसके साथ ही दिल्ली में BJP और JDU के गठबंधन पर भी प्रशांत किशोर ने निशाना साधा था। इसके मद्देनजर ही जब नीतीश से मीडिया ने सवाल किया तो उन्होंने जवाब दिया था कि जिसे जाना है वो जा सकता है।

Prashant Kishor

@PrashantKishor

.@NitishKumar what a fall for you to lie about how and why you made me join JDU!! Poor attempt on your part to try and make my colour same as yours!

And if you are telling the truth who would believe that you still have courage not to listen to someone recommended by @AmitShah?

8,899 people are talking about this
लेकिन, नीतीश कुमार के बयान के बाद भी प्रशांत किशोर चुप नहीं रहे। उन्होंने पलटवार करते हुए लिखा था कि उनके पार्टी में शामिल होने को लेकर नीतीश कुमार ने झूठ बोला है। किशोर ने लिखा था, “मेरा रंग आपके जैसा नहीं है। अगर आप सच बोल रहे हैं तो कौन भरोसा करेगा कि आपके पास इतनी हिम्मत होगी कि आप अमित शाह की बात नहीं मानेंगे।”