जामिया में गोली चलाने वाले युवक का लाल बैग पुलिस के हाथ लगा, खुलेंगे कई राज

नई दिल्ली। जामिया गोली कांड में फायरिंग करने वाले युवक से जुड़ा एक लाल बैग बरामद कर लिया गया है. कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हैं जिनमें युवक को इस बैग के साथ देखा जा सकता है. इसे लेकर सवाल उठ रहे थे कि आखिर वह बैग कहां है.

गोली चलाने से पहले उसने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर कुछ लाइव वीडियो अपलोड किए थे, जिसमें उसके कंधे पर लाल रंग का बैग देखा गया था. गोलीबारी की घटना के बाद यह बैग सड़क पर पड़ा मिला.

गार्ड को मिला बैग

गोलीबारी की घटना के समय गुरुवार को अफरा-तफरी के बीच यह बैग जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के एक गार्ड को मिला था. गार्ड का नाम शादाब है. उस गार्ड ने यह बैग रजिस्ट्रार कार्यालय को सौंप दिया था. लेकिन इसकी पहचान न होने के चलते यह रजिस्ट्रार कार्यालय में ही रखा था.

बतौर सबूत पुलिस को सौंपा गया

बैग के अंदर से कुछ चौंकाने वाली चीजें मिली हैं. सूत्रों ने बताया, बैग में से कुछ कागज मिले हैं. एक कागज पर लिखा है ‘मंदिर वहीं बनाएंगे’. एक कागज पर दाहिने तरफ दो भगवा झंडे की तस्वीरें बनी हैं.

इसके अलावा बैग में से कॉमर्स की एक किताब और उसके नाम से कुछ सर्टिफिकेट ​भी मिले हैं. बैग में जेवर पब्लिक स्कूल की टाई और प्रीबोर्ड परीक्षा की आंसर शीट भी मिली है. इस बैग को बतौर सबूत पुलिस को सौंप दिया गया है.

मार्च के दौरान की थी फायरिंग

गौरतलब है कि गुरुवार को जामिया मिलिया इस्लामिया से राजघाट तक मार्च के दौरान एक युवक ने फायरिंग कर दी. युवक काफी देर तक हथियार को लहराया और फिर गोली चला दी. इस घटना में एक छात्र घायल हो गया. हमलावर को नाबालिग बताया जा रहा है. वहीं, घायल छात्र की पहचान शादाब के तौर पर हुई. इस घटना के बाद नाबालिग युवक मौके से पकड़ा गया. वहीं, आज उसका बैग भी सबूत के तौर को पुलिस को सौंप दिया गया है.

AAP ने पुलिस कमिश्नर को लिखी चिट्ठी

वहीं, जामिया में हुई इस फायरिंग को लेकर आम आदमी पार्टी ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में जामिया फायरिंग की घटना में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की भूमिका जांचने की अपील की गई है. आम आदमी पार्टी ने चिट्ठी में लिखा है, ‘जामिया की घटना सीधे उस क्रोनोलॉजी से मिलती है जो बीजेपी के नेता अनुराग ठाकुर ने कुछ दिन पहले नारे लगवाए थे. ऐसा लगता है कि फायरिंग करने वाले शख्स ने अनुराग ठाकुर के ‘देश के गद्दारों को..गोली मारो…’ के नारों से प्रेरित हुआ है.’