कांग्रेस को दिन में 100 बार क्‍या बात बोलनी चाहिए, पीएम मोदी ने उन्‍‍‍‍‍हें बताया

नई दिल्‍ली। संसद के बजट सत्र में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर धन्‍यवाद प्रस्‍ताव पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा ने कहा कि संविधान बचाने की बात कांग्रेस को दिन में 100 बार बोलनी चाहिए. ये तो उनका मंत्र होना चाहिए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उनसे कहा कि संविधान के साथ कब-क्या हुआ ये सब जानते हैं. आज संविधान का हाल आज ये नहीं होता. संविधान महामूल्य है. संविधान आपको इसका अहसास करा देता. इमरजेंसी में संविधान काम नहीं आया था? इनको तो बार-बार संविधान बोलना ही पड़ेगा.

उन्‍होंने कहा कि कैबिनेट के प्रस्ताव को फाड़ देने वालों को संविधान बचाओ का मंत्र औऱ संविधान का मंत्र समझना जरुरी है.

दरअसल, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोलने के लिए खड़े हुए तो विपक्ष की तरफ से हंगामा हुआ. सत्‍ता पक्ष की तरफ से जय श्री राम के नारे लगे. महात्मा गांधी अमर रहें के नारे लगे. इस पर भाषण की शुरुआत में पीएम मोदी ने कहा कि आपके लिए गांधी जी ट्रेलर हो सकते हैं… हमारे लिए गांधी जी जिंदगी हैं. उन्‍होंने कहा कि राष्ट्रपति ने न्यू इंडिया का विजन अपने अभिभाषण में प्रस्तुत किया है.