दिल्‍ली: बुरी तरह हारीं कांग्रेस की अलका लांबा करने लगीं हिंदू-मुसलमान, पार्टी को दे दी नसीहत

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) के अंतिम रुझानों में बुरी तरह हार रही कांग्रेस की अलका लांबा इन चुनावों में हिंदू-मुसलमान का ट्विस्‍ट ले आईं. उन्‍होंने रुझानों में मिल रही बड़ी हार पर कह डाला कि हिंदू-मुस्लिम वोटों का पूरी तरह से ध्रुवीकरण किया गया. इसके साथ ही उन्‍होंने कांग्रेस को नए नेतृत्‍व की भी सलाह दे डाली.

अलका लांबा ने ट्वीट करते हुए कहा, मैं परिणाम स्वीकार करती हूं, पर हार नहीं. हिंदू-मुस्लिम वोटों का पूरी तरह से ध्रुवीकरण किया गया. उन्‍होंने आगे लिखा, कांग्रेस पार्टी को अब नए चेहरों के साथ एक नई लड़ाई और दिल्ली की जनता के लिए एक लंबे संघर्ष के लिए तैयार होना पड़ेगा. आज लड़ेंगे तो कल जीतेंगे भी.

 

दरअसल, दोपहर पौने 2 बजे तक के अंतिम रुझानों में कांग्रेस की अलका लांबा को केवल 1684 वोट ही मिल पाए थे, यानि पूरे विधानसभा क्षेत्र में हुई वोटिंग (1.47 बजे तक के रुझान) का 4.82%.

जबकि आम आदमी पार्टी के प्रहलाद सिंह साहनी 26938 वोटों के साथ यहां सबसे आगे चल रहे थे, तो बीजेपी के सुमन कुमार गुप्‍ता 9634 वोटों के साथ दूसरे स्‍थान पर.