ससुराल पहुंचने से पहले दुल्हन की उजड़ गई मांग, विदाई के बाद फांसी पर लटका दूल्हा…

मुरादाबाद। बरेली के नवाबगंज से सोमवार को बरात आई थी। दिन में धूम-धाम से शादी सम्पन्न हुई। शाम को दुल्हन को विदा कराने के बाद घर लौटते समय कार एक ढाबा पर रुकी और अचानक दूल्हा गायब हो गया। खोजबीन के बाद मंगलवार सुबह दूल्हे की लाश जंगल में एक पेड़ पर लटकी मिली।

मुरादाबाद के थाना सैदनगली के कुआंढाली गांव निवासी दुष्यंत गिरि (22) पुत्र श्यामदेव गिरि की शादी बरेली जिले के नवाबगंज के ग्राम कुतकापुर के ओमप्रकाश की बेटी आशा के साथ हुई। दुष्यंत पेट्रोल पंप पर सेल्समैन की नौकरी करता था। सोमवार को धूम-धड़ाके के साथ शादी हुई। वह पत्नी को विदा कराकर कार से घर लौट रहा था। कार में दो फोटोग्राफरों के अलावा दुष्यंत, आशा, दुल्हन के साथ एक बच्ची और दुष्यंत का भाई सवार था। शाम करीब सात बजे दूल्हा-दुल्हन की कार नाश्ता करने के लिए पाकबड़ा में एक ढाबे पर रुकी।

पुलिस के मुताबिक दुल्हन नाश्ता करने के बाद कार में बैठ गई। इसी बीच दूल्हा ढाबे से अचानक गायब हो गया। परिवार वालों ने दूल्हा की काफी तलाश की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। परेशान होकर दुल्हन को वहां से घर भिजवा दिया गया। परिवार वाले दूल्हा की तलाश में जुटे थे। मंगलवार को सुबह टीएमयू के सामने जंगल में करीब दो किलोमीटर दूर जंगल में दूल्हा का शव टाई के सहारे पेड़ से लटका मिला। परिवार वालों ने सूचना देकर पुलिस को बुला लिया। प्रभारी निरीक्षक सुरेंद्र सिंह ने बताया कि दुष्यंत गिरि की मौत की वजह का पता नहीं लग पाया है।

शराब की बोतल और दो गिलास मिले

दुष्यंत का शव जिस स्थान पर पुलिस को मिला है, वहां शराब की बोतल और दो गिलास भी मिले हैं। फोरेंसिक टीम घटना की सूचना पर मौके पहुंचकर साक्ष्य जुटा रही है। शराब की बोतल और गिलास कब्जे में लेकर फिंगर प्रिंट ले लिए गए हैं। उनका मिलान करने के लिए दुष्यंत के कुछ रिश्तेदारों और संदिग्धों के फिंगर प्रिंट भी लिए जाएंगे। पुलिस भी हत्या और खुदकशी दोनों की बिंदुओं पर जांच कर रही है।

ससुराल पहुंचने से पहले ही विधवा हो गई दुल्हन

दुष्यंत ने आशा के प्रेम विवाह किया था। दुल्हन को विदा कराकर वह घर तक भी नहीं पहुंची और मौत हो गई। आखिर इसके पीछे वजह क्या रही। यह सवाल पुलिस ही नहीं परिवार के लोगों और उसके रिश्तेदारों के मन को भी परेशान किए हुए है। आशा के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं।

कहीं मारकर तो नहीं लटका दिया

परिवार वाले दुष्यंत की मौत को खुदकशी मानने के लिए तैयार नहीं है। उनका कहना है कि किसी ने उसकी हत्या करके शव को पेड़ से लटकाया है। परिजनों का कहना है कि दुष्यंत ने लव मैरिज की थी। पत्नी से उसे कोई शिकायत नहीं थी। वह खुशी-खुशी पत्नी को विदा कराकर ला रहा था। ऐसे में उसका अचानक गायब होना और शव फांसी पर लटका मिला। यह बात किसी की गले नहीं उतर रहा है।