लखनऊ में दिनदहाड़े दो हत्याओं से सनसनी, संदिग्ध अवस्था में घर में मिले शव-सिर कूचकर हत्‍या

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में शनिवार को एक के बाद एक दो लोगों के संदिग्धावस्था में शव मिलने से सनसनी फैल गई। महिला का शव सआदतगंज क्षेत्र से घर पर मिला है वहीं पुरुष का शव बरौरा हुसैन बाड़ी में घर पर मिला है। दोनों ही मामले में किसी भारी चीज से सिर पर वार करने की पुष्टि हुई है। वहीं पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

ये है मामला 

नवीन नगर में रमाकांती पांडेय परिवार के साथ रहती थीं। शनिवार को दिन में रमाकांती के बेटे अर्पित और हर्षित स्कूल गए थे। दोपहर करीब पौने तीन बजे दोनों घर पहुंचे तो वहां ताला बंद था। काफी देर तक दोनों ने मां की खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं चला। इसके बाद अर्पित ने अपने चाचा मुकेश को फोन कर मां के घर पर नहीं होने की जानकारी दी। रमाकांती के नहीं मिलने पर अर्पित ने पास में रखी चाभी से दरवाजा खोला और भाई के साथ भीतर दाखिल हुआ। कमरे में चारों तरफ घर का सामान बिखरा था। आलमारी के शीशे भी टूटे थे। अर्पित और हर्षित भीतर के कमरे में गए तो फ्रिज के पास उनकी मां लहूलुहान अवस्था में पड़ी थी। हत्यारे ने ईंट से रमाकांती का सिर कूचकर उनकी हत्या कर दी थी। यही नहीं हत्यारा खून से सनी ईंट रमाकांती के चेहरे पर रखकर चला गया था। भीतर का नजारा देख दोनों बच्चे चीखते हुए बाहर की तरफ भागे। इसके बाद पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। पुलिस और फॉरेंसिक टीम ने मौके से साक्ष्य एकत्र किए हैं।

तख्त पर रखे थे पराठे, करीबी पर शक

अर्पित ने बताया कि जब वह घर पहुंचा तो तख्ते पर प्लेट में चार पराठे रखे थे। माना जा रहा है कोई करीबी वहां आया था, जिसने वारदात को अंजाम दिया है। रमाकांती के भाई दिनेश कुमार शुक्ला ने बताया कि आठ साल पहले उनके बहनोई की बीमारी के कारण मौत हो गई थी। नवीन नगर स्थित घर पर रमाकांती की बहन और उसका पति शिवा अक्सर आते जाते थे।

बहनोई पर जताया शक

रमाकांती के देवर मुकेश के मुताबिक सुबह साढ़े आठ बजे उनके दोनों भतीजे स्कूल चले गए थे। वहीं करीब सवा 10 बजे वह हजरतगंज अपनी ड्यूटी पर निकले थे। मुकेश ने तहरीर में लिखा है कि भाभी के बहनोई शिवा अक्सर मेरे घर पर आते रहते थे। किसी न किसी बात पर विवाद करते थे। मुकेश ने शिवा पर शक जताते हुए इस घटना के संबंध में उससे पूछताछ करने की बात कही है। सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है। कॉल डिटेल के आधार पर यह पता लगाया जा रहा है कि आखिरी बार रमाकांती की किससे फोन पर बात हुई थी।

हथौड़ी से कूचकर युवक की हत्या 

ठाकुरगंज में शनिवार को दिनदहाड़े एक युवक की सिर कूचकर हत्या कर दी गई। युवक घर पर अकेला था। एडीसीपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी के मुताबिक हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है। हत्यारे ने हथौड़ी से ताबड़तोड़ वार कर युवक की हत्या की थी। बरौरा हुसैनबाड़ी निवासी मुन्नीलाल कन्नौजिया के बेटे राजकुमार मजदूरी करते थे। मुन्नीलाल के मुताबिक शनिवार दोपहर करीब ढ़ाई बजे बेटे ने उन्हें 20 रुपये दिए थे और कंडा खरीदकर लाने को कहा था। रुपये लेकर मुन्नीलाल बाहर चले गए थे। थोड़ी देर बाद जब वह वापस लौटे तो उनका बेटा लहूलुहान अवस्था में फर्श पर पड़ा मिला। यह देख मुन्नीलाल ने शोर मचाया। आसपास के लोग वहां पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। पुलिस का कहना है कि राजकुमार की पत्नी कंचन बेटे व बेटी के साथ दिल्ली में रहती है।

रंजिश से इन्कार 

घर पर राजकुमार अपने पिता और भाई राजू और मां लक्ष्मी के साथ रहता था। रंजिश से इन्कार, कौन करेगा हत्या? मुन्नीलाल ने किसी प्रकार की रंजिश से इन्कार किया है। सवाल यह है कि पिता के घर से बाहर जाते ही कौन व्यक्ति वहां आया था और राजकुमार की हत्या कर के चला गया। माना जा रहा है कि राजकुमार की जब हत्या की गई तब वह सो रहा था। इसी दौरान हत्यारे ने राजकुमार को मौत के घाट उतार दिया।

सीढ़ी के पास मिली हथौड़ी 

पुलिस को छानबीन में शव से कुछ दूर सीढ़ी के पास खून से सनी हथौड़ी मिली है। पुलिस का कहना है कि हत्यारा भागते समय हथौड़ी फेंककर भाग निकला था। फॉरेंसिक टीम ने मौके से साक्ष्य एकत्र किए हैं। हालांकि अभी तक पुलिस को कोई अहम सुराग नहीं मिले हैं। सीसीटीवी और सर्विलांस के माध्यम से पुलिस छानबीन कर रही है।