दुष्कर्म का वीडियो वायरल होने से आहत पीड़िता ने की आत्महत्या, ट्रेन से कटकर दी जान

अयोध्या/लखनऊ ट्रेन से कटकर जान देने वाली छात्रा के मौत का कारण व्यवस्थाओं पर सवाल खड़ा करने वाला है। दो फरवरी को पांच युवकों ने चाकू की नोक पर नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म किया और इस कृत्य का वीडियो बना लिया। बदनामी के डर से छात्रा चुप रही, लेकिन आरोपी युवक छात्रा को बार-बार ब्लैकमेल कर रहे थे कि पीडि़ता पांच लाख रुपया उन्हें लाकर दे, वरना दुष्कर्म का वीडियो वायरल कर दिया जाएगा।

दुष्कर्म के आरोपियों ने उसका जीना मुश्किल कर दिया था। आरोपियों ने उसका वीडियो वायरल कर दिया, जिसे लेकर वह इतनी आहत हुई कि ट्रेन से कटकर जान दे दी। परिवारजनों का कहना है कि बदनामी के डर से बेटी ने पहले इसकी जानकारी नहीं दी, लेकिन प्रकरण संज्ञान में आने के बाद चार दिन पूर्व पिता ने शिकायत आइजी रेंज कार्यालय में जाकर की पर कार्रवाई नहीं हुई।

पुलिस का कहना है कि कोतवाली अथवा यूपी 112 पर कोई शिकायत नहीं मिली है। शुक्रवार को अयोध्या रेलवे स्टेशन के मालगोदाम पर छात्रा ने ट्रेन से कटकर जान देने के बाद पिता ने कोतवाली पुलिस को तहरीर दी, जिसके बाद पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। नामजद लोगों में अयोध्या कोतवाली के बरहटा निवासी राहुल, आदी चौहान, मणिपर्वत निवासी सुशांत चौबे व सिपाही शामिल हैं। राहुल और सिपाही को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पीडि़ता के परिवारजनों का कहना है कि मृतका कक्षा आठ की छात्रा थी। दो फरवरी को छात्रा विद्याकुंड चौराहे पर साड़ी का फाल लेने जा रही थी। घर वापस लौटते समय रास्ते में राहुल ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसे रोक लिया। साथियों की मौजूदगी में राहुल ने दुष्कर्म किया और अन्य आरोपी वीडियो बना रहे थे। आरोपितों ने छात्रा से कहा कि वह अपने पिता से एक लाख रुपया लाकर दे अन्यथा वीडियो वायरल कर दिया जाएगा।

पांच आरोपितों में दो गिरफ्तार 

एसएसपी आशीष तिवारी का कहना है कि मृतका के पिता ने शुक्रवार को तहरीर दी, जिस पर पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। दो लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की दस टीमें लगाई गई हैं।

आईजी रेंज अयोध्या डॉ. संजीव गुप्ता ने बताया कि आइजी रेंज कार्यालय में यदि पीडि़त परिवार ने शिकायत की है और प्रार्थनापत्र के निस्तारण में लापरवाही बरती गई है तो संबंधित पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई होगी। एसएसपी को इस मामले में कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।