8 साल की बच्ची ने तोड़ा दम: रिश्तेदार समेत 16 लोगों ने 4 साल तक किया था रेप

तमिलनाडु के विल्लुपुरम जिले में इंसानियत को शर्मसार और रिश्तों को तार-तार करने वाला एक मामला उजागर हुआ है। जानकारी के अनुसार, यहाँ पूरे चार साल तक एक 8 साल की बच्ची का उसके रिश्तेदारों समेत 16 दरिंदो ने रेप किया। हालत बिगड़ने पर उसे चेन्नई के अस्पताल में भर्ती कराया। जहाँ गुरुवार को उसकी मौत हो गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही हैं ताकि बच्ची की मौत के असल कारणों का पता चल सके। फिलहाल सीआरपीसी की धारा 174 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। साथ ही आरोपितों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। सभी आरोपितों की उम्र 23 से 55 के बीच की है। पता चला है कि आरोपितों में लड़की के अंकल के लड़के भी थे।

बताया जा रहा है बच्ची के साथ रेप की सनसनीखेज घटना 2019 में उजागर हुई थी। बच्ची की माँ ने पुलिस में अपने रिश्तेदारों के खिलाफ बयान दिया था और अपने ही कई रिश्तेदारों समेत 16 लोगों पर अपनी दो बच्चियों के साथ रेप करने का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि उसके रिश्तेदार उनकी दोनों बेटियों से 2017 से ही रेप कर रहे थे।

उनके मुताबिक गुरुवार को उनकी छोटी बेटी पेट में दर्द के चलते काफी देर तक बाथरूम में रही। जब उन्होंने आवाज दी तो कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। तब उन्होंने दरवाजा तोड़कर अंदर देखा जहाँ बच्ची को जमीन पर बेहोश पाया। उसे अचेत अवस्था में देखकर उन्होंने उसे तुरंत निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यहाँ बता दें कि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में लड़की की मौत के पीछे फ़ूड प्वॉइजनिंग को भी वजह बताया जा रहा है। लेकिन लड़की के साथ हुई हैवानियत को देखते हुए बिना पोस्टमार्टम रिपोर्ट कुछ नहीं कहा जा सकता।

खबर के अनुसार कुछ साल पहले बच्ची की माँ ने पति को छोड़कर अपने सहकर्मी से शादी कर ली थी। इसके बाद वो चेन्नई में रहने लगी और बच्ची अपनी नानी के घर। लेकिन, साल 2018 में बच्चियों की शिकायत सुनने के बाद वह दोनों बेटियों को अपने पास चेन्नई ले आई। मगर, यहाँ आकर बच्ची की माँ ने इस बारे में पुलिस में शिकायत नहीं की। आरोप है कि जब दोनों लड़कियों ने इस मामले पर बात शुरू की तो उन्हें उनकी माँ ने मारा।

एक खबर के मुताबिक, लड़की के साथ हैवानियत का खुलासा तब हुआ जब लड़की के जख्म स्कूल की टीचर ने देखे। टीचर ने ही बच्ची से उसके जख्मों के बारे में सवाल किया और सारी बात जानने के बाद चाइल्डलाइन को सूचित किया। इसके बाद ही पुलिस इस मामले पर अलर्ट हुई। बता दें, जिस समय लड़की की मौत हुई वो अपनी माँ और सौतेले पिता के साथ ही थी। मृतक बच्ची के सौतेले पिता का कहना है बच्ची बड़ी होकर पुलिस अधिकारी बनना चाहती थी।