लखनऊ में बड़ी पान मसाला एजेंसी में बड़ी वारदात, नौकर को गोली मार पैसों भरा बैग छीना

लखनऊ। राजधानी में बेखौफ बदमाशों ने गुरुवार दोपहर में एक सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया। दो बाइक से आए चार बदमाशों ने दिनदहाड़े दुकान में घुसकर रुपयों से भरे दो बैग लूट लिए। विरोध पर कारोबारी के नौकर की गोली मारकर हत्या कर दी। हमलावर हवाई फायङ्क्षरग करते हुए भाग निकले। पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय के मुताबिक लूट की रकम के बारे में कारोबारी ने कुछ स्पष्ट नहीं किया है।

पुरानी सरिया मिल ऐशबाग तिलकनगर निवासी राम निवास अग्रवाल की नेहरू क्रास चौराहे पर फर्म है। फर्म से पान मसाला समेत अन्य का थोक कारोबार किया जाता है। हर बार की तरह गुरुवार को बंदी के दिन फर्म में बैंक का काम किया जाता है। गुरुवार दोपहर में दुकान पर राम निवासी, उनके भाई लालता प्रसाद, श्रीराम, खेमचंद्र व उनका बेटा रितेश बैठकर हिसाब करने जा रहे थे। इसी बीच हेलमेट और नकाब पहने चार बदमाशों ने अंदर घुसते ही गोली चलानी शुरू कर दी। बदमाशों ने सभी को गन प्वॉइंट पर ले लिया।

बैठे रहो, हिलना नहीं

बदमाशों ने कहा कि जिस तरह से बैठे हो बैठे रहो। कोई हिलना नहीं वरना जान से जाओगे। राम निवास व उनके भाई चुपचाप बैठे रहे और कोई विरोध नहीं किया। इसके बाद बदमाशों ने खुली पड़ी अलमारी से रुपयों से भरे दो बैग निकाल लिए और दुकान से बाहर निकल आए।

नाैैकर ने दौड़ाया तो मार दी गोली

लूटपाट के बाद भाग रहे बदमाशों को दुकान में मौजूद नौकर कन्हई खेड़ा कैंपवेल रोड निवासी सुभाष ने दौड़ाया तो बदमाशों ने उसे गोली मार दी। सुभाष दुकान में रखा स्टील का डस्टबिन लेकर बदमाशों को मारने दौड़ा था। गोली लगने से सुभाष लहूलुहान होकर वहीं गिर पड़ा और हमलावर भाग निकले। सुभाष को स्थानीय लोग ट्रॉमा सेंटर लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

गाेेलीबारी में कबूतर की भी मौत

राम निवास की दुकान के बगल में स्थित चाय की दुकान पर संतोष नाम का युवक मौजूद था। सुभाष को गोली मारकर भागते बदमाशों को संतोष ने दौड़ा लिया। यह देख बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायर‍िंंग शुरू कर दी। गोलीबारी में एक कबूतर को गोली लगी, जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं संतोष बदमाशों की फायर‍िंंग से डरकर रुक गया।

भागते समय गिरा था बदमाश

संताेेष ने बताया कि भागते समय एक बदमाश बाइक से नीचे गिर गया था, जिसके पीठ पर रुपयों से भरा बैग था। लोगों के दौड़ाने पर बदमाश ने गोली चलानी शुरू कर दी। इससे वहां भगदड़ मच गई और बदमाश अपने साथियों के साथ बाइक पर बैठकर भाग निकला। स्थानीय लोगों के मुताबिक बदमाश नक्खास की तरफ से आए थे और वारदात के बाद रकाबगंज की तरफ भाग निकले।

दो दारोगा समेत चार निलंबित, छह टीमें गठित

वारदात की जानकारी पाकर पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने घटना स्थल पर छानबीन की। पुलिस आयुक्त ने काम में लापरवाही बरतने पर चौकी इंचार्ज यहियागंज, चौकी इंचार्ज रकाबगंज और दो सिपाहियों को निलंबित कर दिया। पुलिस आयुक्त का कहना है कि वारदात के राजफाश के लिए छह टीमें गठित की गई हैं। सीसी कैमरों की फुटेज खंगाली जा रही है। जेल में बंद बदमाशों से पूछताछ के लिए दो टीम रवाना हुई है।

फुटेज में भागते दिखे बदमाश

मसाला कारोबारी की दुकान में लूटपाट व नौकर की हत्या कर भाग रहे बदमाश सीसी कैमरों में कैद हो गए हैं। फुटेज में हेलमेट और नकाब पहने चारों बदमाश दिखाई दे रहे हैं। बदमाशों के भागते समय रुपयों से भरे बैग की चेन खुल गई थी, जिसे वह बंद करते नजर आ रहे हैं। बदमाशों के हाथ में असलहा भी साफ दिखाई दे रहा है। पुलिस को दी गई तहरीर में राम निवास ने लिखा है कि बदमाश चाबियों से भरा एक बैग भी साथ उठा ले गए थे, जिसे बाद में उन्होंने फेंक दिया था। पीडि़त व्यापारी ने लूट की रकम स्पष्ट नहीं की है।

हर रोज करोड़ों का लेनदेन

स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि राम निवास के फर्म से हर रोज करीब करोड़ों रुपये का व्यापार होता है। प्रति दिन दुकान में नकदी आती थी। बताया जा रहा है कि बदमाश रुपयों से भरा जो बैग लूट कर ले गए हैं, उसमें मोटी रकम थी। हालांकि लूट की रकम के बारे में पुलिस अधिकारी भी चुप्पी साधे हुए हैं।