सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, दिन-प्रतिदिन बिगड़ रही है उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (SP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अराजकता की स्थिति है। बड़ी आबादी में दहशत है। यहां की कानून व्यवस्था दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है। राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के कई जिलों में में आए दिन हत्याएं हो रही हैं। इसे दुरुस्त करने के बजाय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद अलोकतांत्रिक भाषा का प्रयोग कर रहे हैं।

अखिलेश यादव गुरुवार को पार्टी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा भाजपा राज में नागरिकों के अधिकारों को कुचला जा रहा है। लोकतंत्र में सभी को असहमति का अधिकार है। इसमें धमकी और अहंकार के लिए कोई स्थान नहीं होता है। मुख्यमंत्री वन ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का दावा कर रहे हैं, लेकिन यह कैसे हासिल होगा इसकी कोई रूपरेखा नहीं है। पुलिस हिरासत में सबसे अधिक मौतें यूपी में हुईं हैं।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने नैतिकता को ताक पर रखकर असत्य को स्थापित करने की प्रतियोगिता शुरू कर दी है। उन्होंने कहा भाजपा के अहंकार से ऊबी जनता का भरोसा समाजवादी पार्टी और उसकी सरकार के समय हुए तमाम विकास कार्यों पर है। वर्ष 2022 के विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के 351 विधायकों के साथ जनता के बल पर फिर समाजवादी सरकार बनेगी।

अखिलेश यादव ने कहा कि जीवन में बदलाव लाने वाले काम समाजवादी सरकार में हुए थे। जो मेडिकल कालेज समाजवादी सरकार में बने थे उन्हें ही अपना बताने में भाजपा संकोच नहीं कर रही है। एक्सप्रेस-वे और मेट्रो जैसी कोई चीज भाजपा नहीं बना पाई है। समाजवादी सरकार फिर बनने पर और भी अच्छी सुविधायुक्त अस्पताल बनाएंगे। चिकित्सा सुविधाएं बढ़ाई जाएगी। जनहित के विकासकार्यों का विस्तार किया जाएगा।

अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं से कहा कि हमें गांव-गांव, घर-घर जनसंपर्क अभियान शुरू करना चाहिए। इस दौरान समाजवादी पार्टी की नीतियां, कार्यक्रम और समाजवादी सरकार की उपलब्धियां लोगों तक पहुंचाई जाएं।पार्टी की मजबूती के लिए हम सबकी एकजुटता एवं निष्ठा आवश्यक है। जनता का भरोसा कायम रखना है। हमें सघन जनसम्पर्क और सौहार्दपूर्ण व्यवहार के साथ समाजवादी सरकार की उपलब्धियों को पहुंचाने के कार्यक्रम में अभी से लग जाना है।