छत्तीसगढ़: बौखलाए नक्सलियों ने ओरछा थाने के नजदीक किए बम से जोरदार धमाके

नारायणपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिला मुख्यालय से 65 किलोमीटर दूर अबूझमाड़ इलाके के ओरछा थाना के पास शुक्रवार की रात 10 बजे के करीब नक्सलियों ने बम लगाकर जबरदस्त धमाका किया है। एक के बाद एक दो धमाके होने के पूरे इलाके में दहशत फैली हुई है। ग्रामीण घर के अंदर से नहीं निकल रहे हैं।

मुठभेड़ में एक नक्‍सली को मार गिराया

बता दें कि इन दिनों क्षेत्र में सीआरपीएफ, पुलिस बल और अन्य सुरक्षा बलों द्वारा संयुक्त रूप से ऑपरेशन प्रहार जलाया जा रहा है। इसी ऑपरेशन के दौरान बुधवार को पुलिस के द्वारा थाना से 15 किमी दूर हिकुल में मुठभेड़ के दौरान एक नक्सली को मार गिराया था, जिसके बाद से पूरे इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है। घटना की पुष्टी करते एसपी मोहित गर्ग ने बताया है कि दो बार धमाके की आवाज आने के बाद पुलिस के द्वारा सर्च अभियान चलाया जा रहा है। किसी प्रकार की जनहानि की खबर नहीं मिली है।

बड़े पैमाने पर एंटी नक्सल ऑपरेशन

उन्होंने बताया कि नक्सलियों की घेराबंदी के लिए बड़े पैमाने पर एंटी नक्सल ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

क्षेत्र में अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती बढ़ा दी गई है और बड़ी तादाद में जवान जंगलों में सर्चिंग कर रहे हैं। इसके अलावा सड़कों और आसपास के रास्तों में बारीकी से विस्फोटकों की जांच भी की जा रही है। नक्सलियों की गतिविधियों से ग्रामीणों में किसी भी प्रकार की दहशत पैदा ना हो इसके लिए पुलिस पूरी तरह से प्रयास कर रही है। आसपास के इलाके के गांव में सुरक्षा बल तैनात हैं और वहां गांव वालों की सुरक्षा के लिए ही तैनात किए गए हैं। क्षेत्र में पूरी तरह से अलर्ट जारी किया गया है।

2 हजार अतिरिक्त जवानों को जंगलों में उतारा गया

सुरक्षाबलों और छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा चलाए जा रहे हैं संयुक्त ऑपरेशन से बौखला कर नक्सली इस तरह की गतिविधियों के द्वारा लोगों में दहशत पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। बता दें कि इन दिनों छत्तीसगढ़ के महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश की सीमावर्ती इलाकों में संयुक्त सुरक्षा बलों का नक्सल विरोधी अभियान ऑपरेशन प्रहार चल रहा है, जिसके तहत जवान करीब 2 हजार अतिरिक्त जवानों को जंगलों में उतारा गया है। इस अभियान में 2 दिनों के दौरान नारायणपुर और सुकमा जिले में हुई मुठभेड़ों में सुरक्षाबलों ने 8 नक्सलियों को मार गिराया है।