दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया की आज होगी मुलाकात, मध्य प्रदेश का सियासी पारा चढ़ा

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की सोमवार को गुना में मुलाकात होने जा रही है। प्रदेश कांग्रेस के दोनों दिग्गजों की इस मुलाकात से सियासी पारा चढ़ गया है, क्योंकि आमतौर से दिग्विजय-सिंधिया, पार्टी के कार्यक्रमों व बैठकों के अलावा अन्य मौकों पर प्रदेश में एक साथ बैठकर चर्चा नहीं करते हैं। संभवत: दोनों नेताओं की इस तरह की यह पहली भेंट होगी।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह सोमवार को सुबह दिल्ली से ललितपुर पहुंचेंगे। यहां वे चंदेरी विधायक गोपाल सिंह चौहान डग्गी राजा के परिवार में आयोजित वैवाहिक समारोह में शामिल होंगे और दोपहर दो बजे गुना सर्किट हाउस पहुंचेंगे।

आधे घंटे की होगी मुलाकात

सिंह के अधिकृत दौरा कार्यक्रम में सर्किट हाउस गुना में दो बजे उनकी सिंधिया से मुलाकात का समय तय है। यह मुलाकात आधा घंटे की होगी। हालांकि सिंधिया के सोमवार के दौरा कार्यक्रम में दोपहर एक बजे से तीन बजे तक गुना सर्किट हाउस का जिक्र है, लेकिन उसमें दिग्विजय सिंह के साथ मुलाकात का उल्लेख नहीं है।

मुलाकात के पीछे की राजनीतिक उद्देश्यों पर चर्चा

दिग्विजय-सिंधिया की इस मुलाकात से कांग्रेस की राजनीति का पारा चढ़ रहा है। कयासबाजी का दौर शुरू हो गया है। इस मुलाकात के पीछे छिपे राजनीतिक उद्देश्यों पर चर्चा जारी हैं, क्योंकि राज्यसभा चुनाव के नजदीक होने तथा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस द्वारा वचन पत्र में जनता से किए गए वचनों पर अमल को लेकर सिंधिया द्वारा सरकार के खिलाफ स़़डक पर उतरने की चेतावनी दी गई। सिंधिया की चेतावनी से यह चर्चा शुरू हो गई कि पार्टी में सबकुछ सामान्य नहीं है।

सिंधिया की दिग्विजय के साथ ऐसी मुलाकात पहले नहीं हुई है। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के पहले सिंधिया, दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह से मिलने राघौग़़ढ पहुंचे थे। मगर तब भी दिग्विजय सिंह वहां मौजूद नहीं थे।