‘मैं मरे हुए ठुल्ले के लिए संवेदना नहीं जता सकता’: AAP नेता ने किया दिल्ली दंगों में मारे गए IB अफसर का अपमान

नई दिल्‍ली। ऐसे समय में, जब कि दिल्ली में हो रहे दंगों में कई पुलिस अधिकारी से लेकर आम जनता अपनी जान गँवा रहे हैं, आम आदमी पार्टी और इसके नेता राजनीतिक उद्देश्यों के कारण अपनी जहरीली मानसिकता से बाज नहीं आ रहे हैं। आज सुबह ही दिल्ली के चाँदबाग इलाके में दंगाइयों द्वारा एक 26 साल के IB अधिकारी अंकित शर्मा (Ankit Sharma) की बेरहमी से हत्या करने की खबर सामने आई। अंकित शर्मा की लाश के बारे में किसी को पता न चले इसके लिए उनकी लाश को एक गंदे नाले में छुपा दिया गया।

लेकिन आम आदमी पार्टी के संयोजक मयूर पंघाल (Mayur Panghaal) ने IB अधिकारी को अपमानित करते हुए सोशल मीडिया पर कई अपमानजनक ट्वीट किए। उसने ना सिर्फ मृतक अंकित शर्मा को ठुल्ला कहा, बल्कि यह भी कहा कि मरे हुए ठुल्ले के लिए उसे कोई अफ़सोस नहीं है।

मयूर पंघाल नवी मुंबई के आम आदमी पार्टी का नेता है। उसने फेसबुक से लेकर ट्विटर पर IB अधिकारी मृतक अंकित शर्मा के खिलाफ बेहूदे और शर्मनाक भाषा का प्रयोग किया।

एक ट्वीट में आम आदमी पार्टी नेता ने लिखा- “आज अंकित शर्मा नाम का एक ठुल्ला गटर में पड़ा मिला। लेकिन किसी मरे हुए ठुल्ले के लिए मुझे कोई अफ़सोस नहीं है।”

इसके अतिरिक्त एक अन्य पोस्ट में मयूर पंघाल ने लिखा, “क्या अंकित शर्मा भी अपने साथियों की तरह दंगाइयों की मदद कर रहा था? वर्दी वाले अपराधी की मौत का कोई अफ़सोस नहीं है।”

एक और पोस्ट करते हुए आम आदमी पार्टी नेता ने लिखा कि अंकित शर्मा को अपने हत्यारे साथी ठुल्लों की मदद करने का नतीजा भुगतना पड़ा है। इसके आगे उसने लिखा, “कोई ठुल्ला अपनी किस्मत से टकराए, इसके लिए मैं दुखी नहीं महसूस कर सकता हूँ। माफ़ करना अंकित शर्मा, तुम गलत लोगों की तरफ थे। जो लोग तलवार के साथ जीते हैं, तलवार से ही मारे भी जाते हैं।”

मनोज पंघाल नवी मुंबई में आम आदमी पार्टी का संयोजक है। अंकित शर्मा के खिलाफ अपने विवादित पोस्ट करने के कारण लोगों के निशाने पर आने के बाद उसने पोस्ट डिलीट कर दिया है और साथ ही अपना अकाउंट भी डीएक्टिवेट कर दिया है। हालाँकि, तब तक लोग उसके पोस्ट का स्क्रीनशॉट ले चुके थे।

मृतक अंकित शर्मा (26) खजूरी में रहते थे। मंगलवार (फरवरी 25, 2020) शाम जब वह ड्यूटी से घर लौट रहे थे, उसी समय चाँदबाग पुलिया पर कुछ दंगाइयों ने उन्हें घेर लिया और उनकी पीट-पीट कर हत्या कर दी। इसके बाद शव को नाले में फेंक दिया। अंकित शर्मा के पिता रविंदर शर्मा भी IB में हेड कॉन्स्टेबल हैं। उनका कहना है कि पिटाई के साथ अंकित को गोली भी मारी गई है।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए जीटीबी अस्पताल भेज दिया है। अंकित के पिता रविंदर शर्मा ने मौके पर मौजूद मीडिया को बताया कि उनका बेटा अंकित 2017 में IB में शामिल हुआ था। अंकित की अभी तक शादी नहीं हुई थी। उनके लिए लड़की की तलाश की जा रही थी।