आम आदमी पार्टी नेता के घर रची गई दंगे की साजिश? तेजाब की थैलियां और पेट्रोल बम बरामद, वीडियो

नई दिल्‍ली। दिल्ली में सीएए को लेकर हुए हिंसक झड़प और प्रदर्शन के बीच आईबी अधिकारी अंकित शर्मा की मौत हो गई, जिसके बाद उनके भाई ने मामले में कई सनसनीखेज आरोप लगाया, उन्होने कहा कि आम आदमी पार्टी से पार्षद मोहम्मद ताहिर हुसैन ने उनके भाई की हत्या करवाई, इसके बाद मामला तूल पकड़ता जा रहा है, अब आप नेता के घर से पेट्रोल बम और पत्थरों का जखीरा बरामद हुआ है।

घर से जखीरा बरामद
इंडिया टीवी अपनी रिपोर्ट में दावा कर रहा है कि अंकित के भाई के आरोप के बाद जब उनकी टीम आरोपी पार्षद के घर पहुंची, तो वहां से पेट्रोल बम और पत्थरों का जखीरा मिला, इससे पहले दावा किया जा रहा था कि पार्षद की छत से पत्थर और पेट्रोल बम फेंके जा रहे थे, जिसमें कई लोग घायल हो गये थे, इंडिया टीवी की रिपोर्ट का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

मनोज तिवारी हमलावर
दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्विटर पर लिखा है कि आप पार्षद ताहिर हुसैन के घर से तेजाब की थैलिया, पेट्रोल बम, कट्टों में भरे पत्थरों की बरामदी से दंगे की सोची समझी साजिश बेनकाब हो गई है, किस-किस से निर्देश लेकर कर रहा था देश के खिलाफ षडयंत्र? उसके मोबाइल को जब्त कर जांच हो, दोषियों को तत्काल सजा मिले।

ताहिर पर आरोप
अंकित शर्मा के भाई ने एक निजी न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा था कि उनके भाई शाम साढे चार बजे ड्यूटी से लौट रहे थे, तभी गली के बाहर उन्मादी भीड़ ने उन्हें पकड़ लिया, उनके साथ 4 और लड़कों को ले गये, भीड़ उन्हें आम आदमी पार्टी के पार्षद मोहम्मद ताहिर हुसैन के घर ले गये, 4 में से तीन की लाश मिल चुकी है। वीडियो देखने के लिये नीचे क्लिक करें

Manoj Tiwari

@ManojTiwariMP

@AamAadmiParty के पार्षद ताहिर हुसैन के घर से तेजाब की थैलियों, पेट्रोल बमों, कट्टों में भरे पत्थरो की बरामदगी से दंगे की सोची समझी साजिश बेनकाब हो गयी है.
किस किस से निर्देश लेकर कर रहा था देश के ख़िलाफ़ षड्यंत्र? उसके मोबाइल को ज़ब्त कर जाँच हो, दोषियों को तत्काल सजा मिले.. https://twitter.com/sushantbsinha/status/1232895361171238912 

Sushant Sinha

@SushantBSinha

आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन के घर की छत से इंडिया टीवी संवादाता कुमार सोनू की रिपोर्ट बताती है कि छत पर पेट्रोल बम का जखीरा, बड़े बड़े पत्थरों का अंबार , उन पत्थरों को चलाने के लिए गुलेल… सब मौजूद थे।

View image on Twitter
View image on Twitter
View image on Twitter
4,555 people are talking about this