कोरोना को लेकर पंजाब सरकार का बड़ा फैसला, 6 हजार कैदियों को पैरोल पर छोड़ेगी

अमृतसर। कोरोना वायरस का प्रकोप देशभर में तेजी से फैलने के बाद जहां इसे रोकने के लिए एक तरफ देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है तो वहीं दूसरी तरफ राज्य सरकारें अपने स्तर पर कई प्रयास कर रही हैं। इस बीच, दिल्ली के तिहाड़ जेल की तर्ज पर पंजाब सरकार ने कोरोना के चलते गुरुवार को एक महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए जेल से भीड़ को कम करने के लिए 6 हजार कैदियों को पैरोल पर छोड़ने का फैसला किया है।

पंजाब से पैरोल पर छोड़े जाएंगे 6 हजार कैदी

पंजाब के जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने इस बात की घोषणा करते हुए कहा कि ऐसे कैदी जिन्हें सात साल से कम की सजा सुनाई गई है, उन छह हजार कैदियों को पैरोल पर छोड़ा जा रहा है।

ANI

@ANI

To decongest prisons in wake of pandemic, Punjab is giving parole to 6000 prisoners from jails across the state, these are prisoners who were sentenced to less than 7 years in prison: Sukhjinder Singh Randhawa, Punjab Jail Minister (file pic)

Twitter पर छबि देखें
62 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
तिहाड़ ने भी कोरोना के चलते कैदियों को छोड़ा

इससे पहले, तिहाड़ जेल प्रशासन ने ऐसा ही ऐलान करते हुए कहा कोरोना वायरस के चलते अगले 3-4 दिनों में करीब 3 हज़ार कैदी छोड़े जाएंगे। जिसमें 1500 कैदी ऐसे हैं जिन्हें कोर्ट से अलग अलग अपराधों में सज़ा हो चुकी है। इन्हें पैरोल या फरलो पर छोड़ा जाएगा जबकि करीब 1500 कैदी ऐसे हैं जो विचाराधीन यानि अंडर ट्रायल हैं उन्हें अंतरिम जमानत देकर छोड़ा जाएगा।

कोरोना के आज आए 43 नए मामले

कोरोना वायरस के तेजी से फैलने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने COVID-19 को लेकर गुरुवार को ताजा आंकड़े जारी किए हैं। देश में इस घातक वायरस के संक्रमण के आज अभी तक 43 नए मामले सामने आए हैं, साथ ही चार और मरीजों की मौत हुई है।

देश में इस महामारी से संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए राज्य सरकारें घरों तक जरूरी सामान पहुंचा रही हैं, ताकि लोग घर से बाहर न निकलें। स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि 17 राज्यों ने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए पूरी तरह समर्पित अस्पताल चिह्नित करने का काम शुरू कर दिया है।

सरकार कोरोना की चुनौतियों से निपटने को तैयार

आम जनता को आश्वासन देते हुए अग्रवाल ने कहा कि भारत कोरोना वायरस संक्रमण की चुनौती से निपटने के लिए तैयार है। वहीं, विदेश मंत्रालय ने कहा कि यात्रा प्रतिबंधों के संबंध में मंत्रिसमूह की बैठक में चर्चा हुई और उसे जल्दी ही जनता को बता दिया जाएगा।अग्रवाल ने कहा, ‘अगर हम 100 प्रतिशत सामाजिक मेलजोल कम करने में सफल रहे तो हम कोरोना वायरस संक्रमण की प्रसार श्रंखला को प्रभावी तरीके से तोड़ सकेंगें।’

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, ‘भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या गुरुवार को 649 हो गयी। देश मे अभी तक इस वायरस के संक्रमण से 13 लोगों की मौत हुई है। अंतिम तीन मौतें गुजरात, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश में हुई हैं।’