कोरोना के शक में परिवार के नाम चिट्ठी लिखकर खुद को लगाई फाँसी, पोस्टमॉर्टम में निकला निगेटिव

उडुपी(कर्नाटक)। कोरोना को लेकर लोगों के मन में डर किस हद तक घर कर सकता है, ये कर्नाटक में उडुपी जिले में हुई एक घटना से समझ सकते हैं। यहाँ एक शख्स ने कोरोना संक्रमण होने की आशंका के चलते खुदकुशी कर ली। हालाँकि बाद में यह बात सामने आई कि वह संक्रमित नहीं था, उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, उडुपी में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा कि पोस्टमॉर्टम टेस्ट रिपोर्ट से पता चला है कि शख्स कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं था। साथ ही उस इलाके में रह रहे लोगों से कहा है कि उन्हें घबराने की जरुरत नहीं है। गोपालकृष्ण मड़ीवाला (56) ने खुद को फाँसी लगा ली थी क्योंकि उन्हें यह शक था कि वह कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। मरने से पहले उन्होंने एक चिट्ठी भी लिखी है, जिसमें उन्होंने अपने परिवार से सुरक्षित रहने के लिए कहा है।

गौरतलब है कि दुनिया भर में अब तक छह लाख से ज़्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं जबकी मरने वालों की संख्या 30,000 के पार हो चुकी है। वहीं, भारत में कोविड-19 के मामलों की संख्या 979 से अधिक हो चुकी है और वायरस के संक्रमण के कारण अब तक 25 लोगों को अपनी जान गँवानी पड़ी है।

भारत में 22 राज्यों के 75 ज़िलों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, दिल्ली-एनसीआर और उत्तर प्रदेश सबसे अधिक प्रभावित हैं। फिलहाल कोरोवा वायरस के प्रसार को कम करने के लिए सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया है ताकि, ये राज्यों में तेजी से ना फैल सके।