JNU छात्र ने गॉर्ड से की बद्तमीजी, पकड़ा कॉलर, कहा- खाँसकर फैला दूँगा Corona, देखें वायरल वीडियो

नई दिल्ली।  एक समय तक बुद्धिजीवियों को तैयार करने का दावा करने वाला शैक्षणिक संस्थान जेएनयू अब ‘जाहिलों’ से घिरा नजर आ रहा है। बीते दिनों विरोध के नाम पर मारपीट और लड़ाई झगड़े के कई मामले वहाँ से सुनने में आए। मगर, अब कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच में एक ऐसी वीडियो आई है। जिसे देखकर आप भी सवाल करेंगे कि आखिर संस्थान में वामपंथी बनने के अलावा बच्चों को क्या सिखाया जा रहा है। दरअसल, जेएनयू से आई एक वीडियो में एक छात्र सुरक्षा गार्ड को कोरोना फैलाने की धमकी दे रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, लॉकडाउन के बीच ये छात्र विश्वविद्यालय परिसर से बाहर जाने की कोशिश कर रहा था। लेकिन जब उसे सुरक्षाकर्मियों द्वारा रोका गया, तो वह वहीं बैठ गया और सुरक्षाकर्मियों से जिरह करने लगा। जब सिक्योरिटी गार्ड ने गेट खोलने से इंकार कर दिया और उसे वहाँ से उठाने की कोशिश की, तो उसने कहा कि अगर कोई पास आया तो वह खाँसकर कोरोना फैला देगा।

इस पूरे वाकये के दौरान वे लगातार बाहर जाने की जिद करता रहा और सिक्योरिटी गार्ड को मनाने के लिए बिना हस्ताक्षर हुए वॉर्डन का अनुमति का पत्र भी दिखाया। मगर, सुरक्षाकर्मियों का कहना था कि वे उस अनुमति पत्र पर स्टैंप लगवा कर आए, तभी गेट से बाहर जाने को मिलेगा। लेकिन छात्र इसके लिए तैयार नहीं हुआ। बात बढ़ने पर उसने सिक्योरिटी गार्ड पर मारपीट का आरोप लगाया और ये भी कहा कि उसे एम्स के ट्रॉमा सेंटर रेफर किया गया। बता दें वीडियो में नजर आ रहे जिद्दी छात्र की पहचान प्रणव के रूप में हुई है। जिसने सिक्योरिटी गार्ड के मुँह से उसका मास्क भी खींचा और उनका कॉलर भी पकड़ा।

गौरतलब है कि इस वीडियो के सामने आने के बाद लोग जेएनयू पर काफी सवाल उठा रहे हैं और प्रशासन को टैग कर करके पूछ रहे हैं कि आखिर इस तरह के व्यवहार एवं छात्रों को क्यों सहा जा रहा हैं। सरकार इनपर करोड़ों खर्च कर रही हैं और ये लोग ये सब सीख रहे हैं। कुछ लोगों का ये भी कहना है कि एक ऐसा आदेश आना चाहिए जिसमें अगर कोई इस महामारी के समय में खाँसने के नाम पर धमकाए तो उसपर उचित कानूनी एक्शन लिया जाए।