मस्जिदों में छिपे तबलीगी जमातियों पर योगी सरकार सख्त: टूरिस्ट वीजा के दुरुपयोग पर कार्रवाई के निर्देश, पासपोर्ट जब्त करने का आदेश

लखनऊ। भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों की लगातार बढ़ती संख्या ने केन्द्र सहित सभी राज्यों की सरकारों को चिंता में डाल दिया है। यही कारण है कि दिल्ली के निजामुद्दीन से निकलकर पूरे भारत में फैले जमातियों को राज्य सरकारें अपने-अपने तरीके से खोजने में लगी हुई हैं। उधर मस्जिदों में छिपे जमातियों पर यूपी सरकार ने अपनी टेड़ी नजर कर ली है। इसका परिणाम बीते दिनों लखनऊ में हुई सीएम की बैठम में देखने को मिला, जहाँ सीएम योगी आदित्यनाथ ने आदेश जारी करते हुए कहा कि जमात से जुड़े सभी विदेशियों के पासपोर्ट जब्त किए जाएँ।

CM Office, GoUP

@CMOfficeUP

मुख्यमंत्री श्री @myogiadityanath जी अपने सरकारी आवास, लखनऊ पर वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कोरोना वायरस के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की एवं आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

View image on Twitter
346 people are talking about this

दरअसल, सीएम योगी ने कोरोना को लेकर बुधवार को समीक्षा के लिए बनी टीम 11 के साथ बैठक की। बैठक में सीए ने दो टूक कहा कि इन लोगों की पूरी पड़ताल की जाए, जहाँ भी हों, उन्हें क्वारंटाइन किया जाए। योगी ने साफ कहा कि जिन लोगों ने तथ्यों को छिपाया है, उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इन लोगों को प्रदेश में कोरोना संक्रमण का वाहक किसी भी हालत में नहीं बनने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मानवता के खिलाफ किसी भी तरह की कोशिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिन लोगों ने मानवता खिलाफ जाकर कार्य किया है, वह कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि अब तक की कार्रवाई में जो 218 विदेशी नागरिक सामने आए हैं, वे अलग-अलग समय पर टूरिस्ट वीजा पर उत्तर प्रदेश में आए थे। इनमें कई विदेशी तबलीगी जमात में भी शरीक हुए हैं। ऐसे सभी विदेशी नागरिकों के पासपोर्ट कब्जे में लेकर उन्हें क्वारंटाइन किया गया है। अपर मुख्य सचिव गृह ने टूरिस्ट वीजा का दुरुपयोग करने वालों पर भी कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है।

उत्तर प्रदेश के पश्चिमी जिलों में सबसे अधिक संख्या में जमाती मिले हैं। सिर्फ मेरठ और आसपास के जिलों में 1180 जमाती पकड़ में आए हैं। इनमें 951 देश के विभिन्न राज्यों से हैं जबकि 139 लोग विदेशी हैं। आगरा व उसके आसपास के जिलों मथुरा, मैनपुरी, एटा, कासगंज, फिरोजाबाद में 256 जमातियों को क्वारंटाइन किया गया। मथुरा में 60 जमाती मिले। पूर्वांचल में भी यह संख्या ढाई सौ से अधिक है। हापुड़ में थाईलैंड के नौ लोगों समेत 53 लोगों को क्वारंटाइन किया गया। गाजियाबाद में हजरत निजामुद्दीन स्थित तबलीगी मरकज जमात में शामिल होने वाले 135 लोगों का पता चला है।

बता दें कि तबलीगी जमात के तहत दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए मजहबी सम्मेलन में शामिल कई लोगों के कोरोना पॉजीटिव पाया गया है। जानकारी के मुताबिक इस सम्मेलन में यूपी से भी बड़ी संख्या में जमातियों ने हिस्सा लिया था। इसके बाद से ही पूरे उत्तर प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है और लगातार प्रदेश की मस्जिदों में छापेमारी करके देश-विदेश से आए जमातियों की तलाश की जा रही है। इस बीच दिल्ली की तबलीगी जमात में शरीक हुए यूपी के 569 लोगों को अब तक विभिन्न जिलों में क्वारंटाइन किया गया है। वहीं प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2, जबकि इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 117 से अधिक हो गई है।