एकजुट हुआ देश, कश्मीर से कन्याकुमारी तक मनी 9 मिनट की दिवाली

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद देशभर में लोगों ने दीया और मोमबत्ती जलाकर एकजुटता का सबसे बड़ा संदेश दिया है. इस दौरान लोगों ने अपने घरों के बाहर और खिड़कियों पर दीये और मोमबत्तियां जलाईं. वहीं कुछ जगह पर आतिशबाजी भी हुई.

पीएम मोदी की अपील के बाद पूरा देश पीएम मोदी के साथ दिखा. देश के कोने-कोने में लोगों ने रात 9 बजे 9 मिनट के लिए लाइटें बंद की और दीया-मोमबत्ती जलाए. इस दौरान पूरे देश ने कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग में एकजुटता का संदेश दिया. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान अपने आवास पर दीये जलाए.

PIB India 🇮🇳 #StayHome #StaySafe

@PIB_India

Take a look at how came together to show its solidarity against the global pandemic.

We’re all in this together and together we are stronger.

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
328 people are talking about this

पीएम मोदी की अपील के बाद कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भारत के हर कोने में लोगों ने दीये जलाए. वहीं कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने भी दीये जलाए. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, लोकसभा स्पीकर ओम बिरला सहित कई बीजेपी नेताओं ने दीप जलाकर एकजुटता का संदेश दिया.

Narendra Modi

@narendramodi

शुभं करोति कल्याणमारोग्यं धनसंपदा ।
शत्रुबुद्धिविनाशाय दीपज्योतिर्नमोऽस्तुते ॥

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
126K people are talking about this

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि 5 अप्रैल रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए लोग अपने घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे-खिड़की पर खड़े होकर दीया, मोमबत्ती जलाएं या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट-टॉर्च से रोशनी करें. इस शक्ति के जरिए हम ये संदेश देना चाहते हैं कि देशवासी एकजुट हैं. पीएम ने कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है.

जनता कर्फ्यू पर थाली बजाने का किया था आह्वान

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था. पीएम मोदी ने अपील की थी कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन शाम को पांच बजे कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे कोरोना कमांडोज के लिए थाली जरूर बजाएं. उस दौरान भी पूरे देश ने एकजुटता दिखाई थी और कोरोना कमांडोज के लिए ताली-थाली बजाई थी.