कोरोना वायरस से अमेरिका में इटली से भी ज्यादा मौतें, स्पेन और ब्रिटेन में हाहाकार

मैड्रिड/पेरिस। कोरोना वायरस महामारी के चलते दुनियाभर में मरने वाले लोगों की संख्या एक लाख के आंकड़े को पार कर गई है. यह शनिवार को बढ़कर 1,03,141 हो गई. चीन में पिछले साल दिसंबर में इस वायरस के पनपने के बाद से अब तक दुनिया के 193 देशों में फैल चुका है. एक लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. संक्रमण के 17 लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं. कोरोना वायरस से अमेरिका में इटली से भी ज्यादा मौतें हो चुकी हैं. एएफपी न्यूज एजेंसी के मुताबिक, अमेरिका में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 18,860 पर पहुंच गई है. अमेरिका में 5 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं.

इटली दूसरे नंबर पर
कोरोना वायरस संक्रमण से हुई मौत के मामले में इटली दूसरे नंबर पर है, जहां 18,849 लोगों की जान गई है. संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 1,47,577 हो गई है. स्पेन कोविड-19 से दुनिया में सबसे बुरी तरह प्रभावित देशों में से एक है. लेकिन धीरे-धीरे संक्रमण से मरने वालों की संख्या के कम होने के संकेत मिल रहे हैं. फ्रांस में कोरोना संक्रमण के 1,24,869 मामले दर्ज किए गए हैं जिनमें से 13,197 लोगों की जान गई है. वहीं, ब्रिटेन में अब तक 73,758 मामले सामने आए हैं और मृतक संख्या 8,958 तक पहुंच गई है. .

स्पेन में 4800 नए मामले
स्पेन में कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौतों की संख्या में शनिवार को लगातार तीसरे दिन गिरावट दर्ज की गई. सरकार ने कहा कि आज 510 लोगों की मौत इस वायरस के कारण हुई है. पिछले 24 घंटों के आंकड़ों को जोड़ने के बाद देश में मृतकों की कुल संख्या 16,353 हो गई है, जबकि पुष्ट मामलों की संख्या 4800 नए मामले सामने आने के बाद बढ़कर 161,852 हो गई है. स्वास्थ्य मंत्री ने शुक्रवार को कहा कि सोमवार से मेट्रो और ट्रेन स्टेशनों पर मास्क का वितरण किया जाएगा क्योंकि, कुछ कंपनियां दो हफ्तों तक बंद रहने के बाद फिर से खुल गई हैं.

महामारी का सबसे बुरा दौर बीता
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि महामारी का सबसे बुरा दौर बीत चुका है, लेकिन लोगों से अनुरोध किया जाता है कि वो कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 14 मार्च से देश में लगाए गए लॉकडाउन का सख्ती से पालन करें. बता दें कि स्पेन में यह पाबंदियां 25 अप्रैल तक लागू रहेंगी. वहीं सरकार ने यह स्पष्ट किया है कि वह दो हफ्तों के लिए बंद की अवधि को बढ़ा भी सकती है.