पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय कैसे बना ‘कोरोना डिलीवरी ब्वॉय’?

अलर्ट: पिज्‍जा डिलीवरी ब्‍वॉय निकला कोरोना पॉजिटिव, 72 घरों के लोग और 17 साथी लड़के क्‍वारंटीन

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में इस समय CoronaVirus 20 लाख से ज्यादा लोगों को अपना शिकार बना चुका है और 1 लाख 38 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इससे बचने का सबसे सरल और प्रभावी उपाय है कि आप अपने घरों में रहें, Social Distancing का पालन करें, किसी से हाथ ना मिलाएं, और अपने घर और शरीर की साफ सफाई का हमेशा ध्यान रखें.

लेकिन क्या इन सभी बातों का ख्याल रखने के बावजूद आपको Coronavirus हो सकता है और क्या LockDown में होने के बावजूद..आपके घर में CoronaVirus की Home Delivery हो सकती है? हम आपको डराना नहीं चाहते लेकिन इसका जवाब है हां. ऐसा संभव है और देश की राजधानी दिल्ली में ऐसा हुआ भी है.

Pizza की Home Delivery की वजह से दिल्ली के 72 परिवारों को Quarantine कर दिया गया है यानी अब इन सैंकड़ों लोगों में सिर्फ इसलिए संक्रमण की आशंका है क्योंकि जिस व्यक्ति ने इन घरों में Pizza की Home Delivery की थी उसमें Corona के संक्रमण की पुष्टि हो गई है.

ये व्यक्ति पिछले कई दिनों से बीमार था लेकिन इसके बावजूद ये घर-घर जाकर खाना Deliver करता रहा.  ये जरूर इसकी मजबूरी रही होगी क्योंकि बीमार होने के बाद भी आपकी तरह घर पर रहने का हक और मौका शायद इसके पास नहीं था. और शायद नौकरी और पैसों की चिंता की वजह से ही बीमार होने के बावजूद ये व्यक्ति अपना काम करता रहा.

लेकिन अगर आप भी LockDown की वजह से Online खाना Order कर रहे हैं, तो आपको ये विश्लेषण अपने पूरे परिवार के साथ देखना चाहिए, क्योंकि हो सकता है कि आपकी एक गलती आपके पूरे परिवार के स्वास्थ्य पर भारी पड़ जाए.

इसलिए सबसे पहले ये समझिए कि दिल्ली में आखिर हुआ क्या था? ये घटना दिल्ली के मालवीय नगर की है जहां Online Food Delivery की सुविधा देने वाली एक कंपनी Box-8 के एक Delivery Boy ने पिछले कुछ दिनों में 72 परिवारों को खाने की Home Delivery की थी.

Delivery करने वाले इस व्यक्ति को पिछले कई दिनों से खांसी और बुखार था. इसके बावजूद ये व्यक्ति पिछले रविवार तक घर-घर जाकर खाने की Delivery करता रहा.

इतना ही नहीं 72 परिवारों के अलावा इस Delivery Boy से मिलने वाले 17 दूसरे Delivery Boys को भी अलग-अलग जगहों पर Quarantine कर दिया गया है.

जिस कंपनी Box-8 ने ये पिज्जा डिलीवर किया था उसने भी सफाई दी है, जिसमें कहा गया है कि सारी सावधानियां बरतने के बावजूद एक डिलीवर पार्टनर संक्रमित पाया गया है. ये दुर्भाग्य-पूर्ण है और कंपनी इस मामले में प्रशासन के साथ पूरा सहयोग कर रही है.

इस मामले में Online खाना Order करने की सुविधा देने वाली कंपनी Zomato ने भी अपना पक्ष रखा है. Zomato ने एक बयान में कहा कि इस Restaurant से Order किए गए कुछ Food Items की Delivery Zomato के जरिए भी की गई थी , लेकिन ये पुख्ता तौर पर नहीं कहा जा सकता कि इन Deleveries के समय पर ये Rider संक्रमित था या नहीं.

लेकिन ये घटना हमें बताती है कि कोरोना वायरस के इस दौर में हमें कितनी सावधानी बरतने की जरूरत है. शुरुआती जांच में ये माना जा रहा है कि इस Delivery Boy ने शायद पिछले दिनों किसी ऐसे व्यक्ति तक खाना पहुंचाया होगा, जो CoronaVirus से संक्रमित था और यहीं से, ये Delivery Boy भी संक्रमण का शिकार हुआ.

आगे बढ़ने से पहले आप ये सुनिए कि इस घटना पर स्थानीय प्रशासन और दिल्ली सरकार का क्या कहना है. लेकिन यहां आपको इस मामले की गंभीरता समझनी चाहिए क्योंकि एक व्यक्ति की गलती ने आज 72 परिवारों के जीवन को संकट में डाल दिया है.

LockDown के दौर में लोग Online खाना Order तो कर रहे हैं लेकिन वो इससे जुड़ी सावधानियां नहीं बरत रहे हैं, इसलिए आज आपको उन सावधानियों के बारे में भी जानना चाहिए.

जब भी आप Online खाना Order करें तो इस बात का ध्यान रखें कि आप Order को सीधे अपने हाथ से ना छुएं , बल्कि डिलिवरी करने वाले से कहें कि वो सामान दरवाजे के बाहर रखकर चला जाए. अगर आप खुद डिलिवरी ले रहे हैं तो Order लाने वाले से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाकर रखें.

इसके अलावा आपको Cash Payment से भी बचना चाहिए. क्योंकि नोटों के जरिए भी संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है. जहां तक संभव हो आप Payment भी Online ही करें. ये आपके और खाना डिलीवर करने वाले व्यक्ति की सुरक्षा के लिए बहुत जरूरी है.

इसके अलावा जब आप खाना घर के अंदर लाएं तो इसे एक ही व्यक्ति हाथ लगाए. Packing से बाहर निकालने के बाद खाने को घर के बर्तनों में पलट दें और फिर सबसे पहले कम से कम 20 सेकेंड तक साबुन से अपने हाथ धोएं और ध्यान रखें कि इस दौरान आप अपने नाक, मुंह या आंख को ना छुएं.

जाहिर है आप में से कुछ लोग ये सावधानियां बरत रहे होंगे जबकि कुछ लोग लापरवाही के जरिए अपने अलावा, दूसरों का जीवन भी संकट में डाल रहे हैं. दिल्ली में Online Pizza डिलीवरी कैसे 72 परिवारों पर भारी पड़ गई. आपको ये समझाने के लिए हमने एक Ground Report तैयार की है. ये रिपोर्ट देखकर आप समझ जाएंगे कि कैसे एक व्यक्ति से हुई गलती पूरे समाज को बीमार कर सकती है.

यहां हम इन कंपनियों से भी अपील करना चाहते हैं कि ये कंपनियां एक ऐसा सिस्टम बनाएं जिसके तहत इन Delivery Boys के स्वास्थ्य की सुरक्षा की जा सके और इन्हें ऐसे सुरक्षा उपकरण भी दिए जाएं, जिनकी मदद से ये खुद को और दूसरो को संक्रमण से बचा सकें. विज्ञापनों में सावधानी बरतने के दावे करने से ही कुछ नहीं होता जरूरी मानकों को अपनाने से ही लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा की जा सकती है.

खाने के पैकेट पर भी कोरोना वायरस जीवित रह सकता है और इसके अलावा कुछ और ऐसी चीजे भी हैं, जिन पर CoronaVirus काफी समय तक जीवित रहता है. New England Journal of Medicine की एक Study के मुताबिक Corona Virus से संक्रमित व्यक्ति जब छींकता या खांसता है तो इसकी वजह से छोटी-छोटी बूंदे यानी Droplets हवा में फैल जाते हैं.  इन Droplets को आंखों से नहीं देखा जा सकता है, ये हवा में 6 फीट तक की दूरी तय कर सकते हैं. और इनमें मौजूद Virus से 30 मिनटों में कोई और व्यक्ति संक्रमित हो सकता है और CoronaVirus का संक्रमण सबसे ज्यादा इसी वजह से फैलता है.

किसी Cardboard की सतह पर ये Virus करीब 24 घंटे तक मौजूद रह सकता है. यानी आपके घर में अगर कोई Courier या Cardboard की पैकिंग में कोई सामान आता है तो आपको उससे भी सावधान रहना चाहिए.

खतरे को कम करने के लिए आपको पहले इन चीजों को Sanatize करना चाहिए और फिर अपने हाथ साबुन से अच्छी तरह धोने चाहिए.

इसी तरह बाजार में खरीददारी के समय मिले किसी नोट पर भी कम से कम 24 घंटे तक वायरस रह सकता है और इससे बचने के लिए आपको डिजिटल पेमेंट का इस्तेमाल करना चाहिए.

Plastic और Stainless Steel की सतह पर Corona Virus सबसे ज्यादा देर यानी 72 घंटों तक जीवित रह सकता है. आपका मोबाइल फोन, रिमोट कंट्रोल, पानी की बोतल और आपकी कार या बाइक के ज्यादातर हिस्से प्लास्टिक से ही बने होते हैं. खाने की Delivery भी ज्यादातर प्लास्टिक के बैग्स में ही की जाती है.

आप ATM से पैसे निकालते हैं और उसके ज्यादातर हिस्से भी Plastic और Steel से बनाए जाते हैं. इसी तरह आपके घर में मौजूद बर्तन, बस या Metro में यात्रियों के लिए बने पिलर और यहां तक कि सिक्के भी Stainless Steel से बने होते हैं. यानी इनसे भी CoronaVirus का संक्रमण हो सकता है.

Copper यानी तांबे की सतह पर ये वायरस सिर्फ 4 घंटे तक मौजूद रहता है. हालांकि डॉक्टरों और विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में जिस तरह गर्मी बढ़ रही है उससे ऐसी वस्तुओं की सतह पर वायरस का ज्यादा देर तक जीवित रहना संभव नहीं है, लेकिन फिर भी Online Delivery लेते हुए आपको सावधान रहने की जरूरत है.

बात Pizza की हो रही है तो हम आपको इससे जुड़ी एक दिलचस्प जानकारी भी देना चाहते हैं. आम तौर पर माना जाता है कि Pizza इटली की देन है, लेकिन आज हम आपको इस दावे की सच्चाई भी बताएंगे.

फिलहाल इटली कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि जिस तरह इटली में Corona वायरस चीन से पहुंचा था, उसी तरह करीब 800 वर्ष पहले इटली में पिज्जा भी चीन से ही पहुंचा था. माना जाता है कि चीन में आटे से तैयार की गई Pizza के आकार की एक Dish बनाई जाती है और ये Dish चीन में Street Food के तौर पर बहुत मशहूर है.

लेकिन 800 वर्ष पहले जब इटली के एक बड़े व्यापारी Marco Polo ने चीन की यात्रा की तो उन्हें चीन में बनाया जाने वाला ये Pizza बहुत पसंद आया. और इटली वापस जाकर उन्होंने ऐसे रसोइए की तलाश की जो ये Pizza बना सके. हालांकि कुछ विशेषज्ञों के मुताबिक पूरी दुनिया में Pizza जैसा भोजन 12 हजार वर्षों से बनाया जा रहा है और ये विशेषज्ञ मानते हैं कि आधुनिक Pizza का श्रेय इटली को ही जाता है क्योंकि आज जो Pizza पूरी दुनिया में मशहूर है उसे 18वीं शताब्दी में पहली बार इटली के Naples में बनाया गया था. अब पिज्जा भले ही कहीं से भी आया हो…लेकिन अगर ये Online Food डिलीवरी के जरिए आपके घर आ रहा है तो आपको सावधान रहना चाहिए.