व्हाइट हाउस के बाहर हिंसक प्रदर्शन, डोनाल्‍ड ट्रंप को अंडरग्राउंड बंकर में पड़ा छिपना

नई दिल्ली। अमेरिका में अश्‍वेत नागरिक जॉर्ज फ्लायड (George Floyd) की पुलिस हिरासत में मौत के बाद देश भर में प्रदर्शन जारी है. शुक्रवार रात व्हाइट हाउस (White House) के बाहर भी जमकर प्रदर्शन किया गया था. उस हिंसक प्रदर्शन की गंभीरता इस बात से समझी जा सकती है कि उस दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को कुछ समय के लिए एक भूमिगत बंकर में ले जाया गया था.

शुक्रवार को व्हाइट हाउस  के बाहर हुए प्रदर्शन पर न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में कहा गया- ‘सीक्रेट सर्विस एजेंट राष्ट्रपति को भूमिगत बंकर में ले गए, जिसे आतंकवादी हमलों के दौरान पहले इस्तेमाल किया गया था.’ ये वही बंकर है जिसमें  11 सितंबर, 2001 को हुए आतंकी हमलों के दौरान उप-राष्ट्रपति डिक चेनी को शरण दी गई थी. टाइम्स की रिमोर्ट के मुताबिक- ‘सलाहकारों के अनुसार, राष्ट्रपति और उनके परिवार के लिए शुक्रवार रात के अनुभव भयभीत करने वाले थे.’

फ़्लॉइड की मौत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद से देश भर में होने वाले विरोध प्रदर्शन पर अमेरिकी राष्ट्रपति की व्यापक रूप से आलोचना की गई है. विरोध के बाद से ट्रंप ने राष्ट्र को संबोधित भी नहीं किया और ट्विटर पर बार-बार आक्रामक मैसेज किए हैं.

शुक्रवार देर रात, ट्रंप ने ट्वीट किया कि प्रदर्शनकारियों पर खूंखार कुत्तों और खतरनाक हथियारों से हमला किया जा सकता था, और डीसी मेयर पर व्हाइट हाउस की सुरक्षा के लिए पुलिस उपलब्ध नहीं कराने का आरोप लगाया था.

ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था- ‘मैं अंदर था, और हर हरकत को देख रहा था, और मैं खुद को ज्यादा सुरक्षित महसूस नहीं कर पा रहा था. भीड़ को सुनियोजित ढंग से संगठित किया गया था, लेकिन कोई भी बाड़ तोड़ने के लिए करीब नहीं आया. और अगर आता तो उनका स्वागत सबसे खूंखार कुत्तों और सबसे खतरनाक हथियारों से किया जाता.’

सूत्रों के अनुसार ट्रंप के साथ उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप और उनके बेटे बैरन को भी बंकर में ले जाया गया था.