विकास दुबे की पत्नी को अपना घर गिरा दिए जाने का डर, अफसरों से पूछा कैसे पास होगा नक्शा

लखनऊ। विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे अपने बड़े बेटे के साथ गुरुवार की देर शाम एलडीए पहुची। रिचा दुबे ने रोते हुए अधिकारियों से मकान बचाने की गुहार लगाई। उनसे नक्शा पास करने के बारे में जानकारी की। एलडीए ने रिचा दुबे व तीन अन्य को धारा 27 की नोटिस दे रखी है। 15 दिन में रिचा दुबे को जवाब देना था।
रिचा दुबे के इंद्रलोक कॉलोनी स्थित मकान जे 424 पर ध्वस्तीकरण की तलवार लटकी हुई है। जिस भूखंड पर मकान बना है उसका कुल क्षेत्रफल 6000 वर्ग फुट था। लेकिन इसका सब डिवीजन कर 4 भूखंड बना दिया गया। अब इस पर चार मकान बने हैं। रिचा दुबे के अलावा तीन अन्य लोगों को भी एलडीए ने नोटिस जारी की थी। नोटिस का जवाब मिलने के बाद गुरुवार की शाम रिचा दुबे एलडीए पहुंची। वह अधिकारियों के पास पहुंचकर जोर जोर से रोने लगी। अपने मकान को बचाने की गुहार लगाने लगी। उनके मकान का नक्शा नहीं पास है। लिहाजा वह इंजीनियरों से नक्शा पास कराने के बारे में जानकारी कर रही थी। उनके बड़े बेटे ने भी इंजीनियरों अधिकारियों से पूछा कि मकान का नक्शा कैसे पास होगा। उसने भी मकान को न गिराने की प्रार्थना की। एक इंजीनियर ने बताया कि दोनों लोगों ने कहा कि अगर यह मकान गिरा दिया गया तो वह लोग सड़क पर आ जाएंगे।

नई शमन योजना से मिल सकती है राहत
शासन की ओर से 3 दिन पहले जारी की गई नई शमन योजना 2020 से रिचा दुबे को राहत मिल सकती है। इसमें अवैध निर्माण को वैध करने का प्रावधान किया गया है। मामुली शुल्क जमा कर वह मकान का नक्शा पास करा सकती हैं। नई शमन योजना में सब डिवीजन कर बनाए गए मकानों को भी नियमित करने का प्रावधान किया गया है। सूत्रों का कहना है कि एलडीए के अधिकारियों ने उन्हें नई शमन योजना के तहत आवेदन करने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *