UP : ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्रा पर गुंडा एक्ट की कार्रवाई, टोल प्लाजा टेंडर मामले में धमकी देने का आरोप

भदोही/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में ज्ञानपुर के निर्दलीय विधायक विजय मिश्रा के खिलाफ शनिवार को पुलिस ने गुंडा एक्ट की कार्रवाई की। एमएलए पर जीटी रोड लालानगर टोल प्लाजा टेंडर प्रक्रिया में रुपया लगाने वाले व्यापारी को धमकी संग गालियां देने का आरोप है। उधर, बाहुबली विधायक पर कार्रवाई के बाद कालीन नगरी में चर्चाओं का बाजार गर्म है। लोग इसे कानपुर के विकास दुबे कांड के बाद पुलिस द्वारा अपराधियों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई से जोड़कर देख रहे हैं।

ज्ञानपुर स्थित पुलिस लाइन सभागार में शनिवार को दोपहर में एसपी राम बदन सिंह ने प्रेस वार्ता की। मीडिया कर्मियों को बताया कि लालानगर टोल प्लाजा संचालन विधायक करना चाहते थे, लेकिन उन्हें मिला नहीं। किसी दूसरे व्यक्ति को मिलने के बाद टेंडर प्रक्रिया में गोपाल कृष्ण माहेश्वरी ने अपना रुपया लगाया था। इस बीच विधायक द्वारा खुद व समर्थकों से कई बार टोल प्लाजा पर अवैध वसूली समेत कई शिकायतें आला अधिकारियों से की गई थी। पुलिस जांच में सभी आरोप बेबुनियाद मिले। गत दिनों सोशल मीडिया पर एक ऑडियो वॉयरल हुआ। जिसमें विधायक ने गोपाल कृष्ण को जान से मारने की धमकी, गालियां दी हैं।

ऑडियो की जांच कराई गई। लेकिन पीड़ित ने शिकायत करने से मना कर दिया। जिस पर पुलिस ने ऑडियो का स्वत: संज्ञान लेकर कार्रवाई की। उसी आधार पर शनिवार को औराई थाने में विधायक के खिलाफ गुंडा एक्ट में कार्रवाई की गई है। हालांकि पीड़ित ने अभी तक मामले में पुलिस को शिकायती पत्र नहीं दिया है। शिकायत होने पर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। कहा कि गुंडा एक्ट की पत्रावली डीएम कार्यालय भेजी दी गई है। आरोप सिद्ध होने पर कम से कम छह महीने तक विधायक को जिला बदर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भदोही, मिर्जापुर, प्रयागराज समेत कई जनपदों में विधायक पर संगीन धाराओं में 71 मुकदमे दर्ज हैं।

मेरी हत्या कराना चाहती है पुलिस: विजय

भदोही। विधायक विजय मिश्रा ने कहा कि ऑडियो चार महीने पुराना है। मेरे परिचित के रिश्तेदार होने के कारण मजाक में गालियां दी है। धमकी का कोई सवाल ही नहीं, इतना ही नहीं, मैंने टोल प्लाजा संचालन को टेंडर नहीं डाला था। प्लाजा पर बदमाश बैठकर अवैध वसूली करते थे, जिसकी शिकायत की थी, उससे भारत सरकार को करोड़ों का फायदा हुआ। आरोप लगाया कि जिले की पुलिस उनकी हत्या कराना चाहती है। अगर शिकायतें गलत हैं तो पुलिस ने मुझ पर केस क्यों दर्ज नहीं किया। मामले को विधानसभा में उठाया जाएगा। कहा कि पुलिस हर आदमी को विकास दुबे बनाने पर तुली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *