रामलला के दरबार में साष्टांग दंडवत हो गए थे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी, अयोध्या में भूमिपूजन का अद्भुत नजारा

अयोध्या। अयोध्या में भव्‍य राम मंदिर निर्माण के लिए आज भूमि पूजन का कार्य संपन्‍न हो गया है । प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी समेत विशिष्‍ट अतिथियों की मौजूदगी में मंदिर शिलान्‍यास का कार्य शुभ मुहूर्त पर पूरा हुआ । कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्य पूजा की । इस ऐतिहासिक कार्य की आज अयोध्या नगरी साक्षी बनी है । इस कार्यक्रम के लिए 175 प्रतिष्ठित अतिथि आए हुए हैं, कोरोना के कारण अधिक लोगों का आना संभव नहीं हो सकता । लेकिन करोड़ों राम भक्तों के बरसों को इंतजार आज पूरा हुआ ।

विधिवत संपन्‍न हुआ कार्यक्रम

500 वर्षों का इंतजार आज जब पूरा हुआ तो राम भक्‍तों का उत्‍साह देखने लायक था । देश और दुनिया में इस कार्यक्रम का सीध प्रसारण करोड़ों भक्‍तों ने देखा । आज से विधिवत रूप से राम मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हो गया है । इस कार्यक्रम को लेकर बनाए गए मंच पर पीएम मोदी, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास समेत केवल पांच लोग ही हैं ।

हनुमान गढ़ी मंदिर में पूजा

भूमि पूजन स्थल पर जाने से पहले पीएम मोदी ने हनुमानगढ़ी मंदिर में पारंपरिक तरीके से पूजा-पाठ किया । रामलला के दर्शन से पहले हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा करने की परंपरा है । हनुमानगढ़ी मंदिर में प्रमुख पुजारी श्री गद्दीनशीन प्रेमदास महाराज ने प्रधानमंत्री मोदी को पगड़ी, चांदी का मुकुट और पारंपरिक स्टॉल पहनाया । कोराना के कारण प्रधानमंत्री मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्‍यान रखते हुए नजर आए । भूमि पूजन के दौरान भी सोशल मडिस्‍टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया । सभी दूर-दूर बैठे हुए नजर आए ।

अयोध्‍या समेत पूरे देश में दीवाली

रामलला की घर वापसी, उनके मंदिर का निर्माण, राम भक्‍तों के लिए ये पल अनंत उत्‍साह का कारण हैं । आज देश में सच्‍ची दीवाली मनाई जाएगी । दियों से घर जगमग होंगे । रामलला के मंदिर निर्माण की खुशी देश के साथ दुनिया भर के रामभक्‍तों में नजर आ रही है । सोशल मीडिया पर राम मंदिर निर्माण के शिलान्‍यास का जश्‍न देखने को मिल रहा है कई देशों से ऐसी तस्‍वीरें आई हैं जो मन को प्रसन्‍न कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *