दो गज़ सही लेकिन ये मेरी मिलकियत तो है.. ऐ मौत तूने मुझको ज़मींदार कर दिया-नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी

नई दिल्ली। प्रसिद्ध शायर डॉ. राहत इंदौरी का इंदौर में मंगलवार शाम करीब पांच बजे निधन हो गया। अंतिम सांस के साथ ही अब वे ‘जमींदार” हो गए हैं। दरअसल, शायरी के लंबे दौर में उन्होंने कभी कहा था-

कश्ती तेरा नसीब चमकदार कर दिया, इस पार के थपेड़ों ने उस पार कर दिया।

दो गज सही ये मेरी मिलकियत तो है, ऐ मौत तूने मुझे जमींदार कर दिया।

इस शेर में जमींदार होने से उनका आशय था कि जिस जमीन में उन्हें दफनाया जाएगा, वह भले ही दो गज की हो, मगर हमेशा के लिए उनकी मिलकियत (संपत्ति) हो जाएगी। उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। कोरोना से संक्रमित होने की जानकारी राहत इंदौरी ने खुद ट्वीट कर दी थी।

प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, शाम को उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया। उनके दोनों फेफड़ों में कोरोना का संक्रमण और किडनी में सूजन थी।

सुबह उन्होंने ट्वीट किया था कि कोविड के शुरुआती लक्षण दिखाई देने पर मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अरविंदो अस्पताल में भर्ती हूं, दुआ कीजिए जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं। एक और आग्रह है कि मुझे या घर के लोगों को फोन ना करें, मेरी खैरियत टि्वटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी। इस ट्वीट के बाद राहत इंदौरी के चाहने वाले जल्द से जल्द उनके स्वस्थ होने की दुआ के साथ मैसेज लिख रहे थे, लेकिन देर शाम उनके निधन की खबर आई।

राहत इंदौरी के निधन के बाद अरबिंदो अस्पताल का अहम बयान सामने आया है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार डॉ विनोद भंडारी ने कहा कि उन्हें आज (मंगलवार) दो बार दिल का दौरा पड़ा और उन्हें बचाया नहीं जा सका। कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके शरीर में 60 फीसद तक निमोनिया था।

बता दें कि राहत इंदौरी मशहूर शायर हैं, साथ ही वह बॉलीवुड के लिए भी कई गाने लिखते आए। राहत इंदौरी की उम्र 70 साल थी, ऐसे में उन्हें डॉक्टरों की सलाह पर अस्पताल में भर्ती किया गया था।

इंदौरी के निधन की खबर आने के बाद सोशल मीडिया में शोक की लहर दौड़ गई। सोशल मीडिया यूजर्स उनके शेर और शायरी लिखकर भावभीनी श्रद्धांजलि दे रहे हैं और उन्हें याद कर रहे हैं।

गौरतलब है कि कि मध्य प्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी तेजी से फैल हुआ है। इंदौर भी शुरुआत में कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट बनकर उभरा था। बीते दिनों ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी कोरोना की चपेट में आए थे, हालांकि अब उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *