सुशांत केस में जुड़ रही हैं कड़ियां, चाबीवाले ने आंखों देखी बताई, रिया को लेकर सबसे बड़ा खुलासा

सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को अपने फ्लैट के एक कमरे में खुदकुशी कर ली थी, लेकिन खुदकुशी लग रही ये घटना अब नए मोड़ ले रही है । एक बहुत बड़ी साजिश की आशंका जताई जा रही है । ऐसा इसलिए क्‍योंकि इस मामले में अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, 14 जून की आंखों देखी सामने आई है । वो चाबीवाला जिसे सुशांत का कमरा खोलने के लिए बुलवाया गया था उसका बयान साने आया है । क्‍या कुछ कहा रफी शेख ने, आइए आपको बताते हैं ।

चाबीवाले ने बताया घर का हाल

मोहम्मद रफी शेख नाम के इस चाबीवाले को सुशांत के साथ रहने वाले सिद्धार्थ पिठानी ने फोन करके 14 जून को बुलाया था । रफी ने कहा कि उसे इस बात का बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि फ्लैट सुशांत सिंह राजपूत का है ।  रफी ने बताया कि जब वह सुशांत के कमरे के पास पहुंचा तो उसने देखा कि दरवाजे पर कम्प्यूटराइज की वाला लॉक लगा है । रफी शेख ने आगे कहा कि उस वक्त वहां पर चार लोग मौजूद थे । लेकिन जब उसने ताला तोड़ा तो उसे तुरंत वहां से जाने के लिए कह दिया गया था । रफी को घटना के बारे में कोई जानकारी नहीं थी ।

रफी के सामने दरवाजा नहीं खोला गया

हैरानी की बात जो रफी शेख ने बताया है । रफी ने आगे बताया कि जैसे ही लॉक टूटा और मैंने दरवाजा खोलने की कोशिश की तो वहां मौजूद लोगों ने मुझे कुछ देखने ही नहीं दिया । दरवाजा खुलते ही वहां मौजूद लोग मुझे बाहर ले आए और वहां से जाने को कह दिया । रफी शेख ने ये भी कहा कि उस दिन चारों में से कोई भी घबराया हुआ नहीं लग रहा था । हर कोई बस ये चाहता था कि मैं दरवाजा खोल दूं । रफी ने बताया कि उन्होंने कहा ​था कि पैसे की कोई टेंशन नहीं है बस दरवाजा खुलना चाहिए । चाहे उसे तोड़ना ही क्यों न पड़े । रफी के काम पूरा होने के बाद उसे 2000 रुपए देकर वहां से भेज दिया गया था ।

रिया को लेकर खुलासा

वहीं सुशांत सिंह राजपूत मामले में रिया को लेकर भी एक बड़ी बात सामने आई है । सुशांत 14 जून को खत्म हो गए थे, और रिया उनके शव को देखने 15 जून को कूपर अस्‍पताल गई थीं । रिया को लेकर पता चला है कि उन्‍होने सुशांत के शव को देखकर उनसे माफी मांगी थीं । दरअसल ये खुलासा सुरजीत सिंह राठौड़ नाम के एक शख्‍स ने किया है, जो एक निजी टीवी चैनल पर इंटरव्यू के दौरान बहस शो का हिस्‍सा थे ।

रिया ने कहा सॉरी बाबू
सुरजीत सिंह राठौड़ ने बताया कि वह 15 जून को रिया चक्रवर्ती के साथ मुर्दाघर गए थे, वहां रिया ने सुशांत का शव देखा और कहा ‘सॉरी बाबू’ । उन्होंने ये भी बताया कि रिया का भाई शौविक चक्रवर्ती और उसकी मां भी सुशांत का शव देखना चाहते थे, लेकिन मुंबई पुलिस ने उन्हें जाने नहीं दिया । सुरजीत अब इस बात को लेकर सवाल उठा रहे हैं, कि आखिर रिया ने सुशांत से माफी क्‍यों मांगी होगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *