अलवर: भांजे के साथ बाइक से जा रही विवाहिता से गैंगरेप, वीडियो वायरल होने के बाद आरोपित आसम, साहूद सहित 5 गिरफ्तार

राजस्थान के अलवर जिले में एक बार फिर शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। एक विवाहिता के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद वीडियो वायरल करने का मामला दर्ज हुआ है। 45 साल की एक महिला ने 6 लोगों पर अपने साथ गैंगरेप करने का आरोप लगाया है। महिला का कहना है कि इन बदमाशों ने उनके भांजे के सामने ही उनके साथ इस घिनौनी कृत्य को अंजाम दिया। इतना ही नहीं महिला का आरोप है कि सभी बदमाशों ने जबरन उनके भांजे से भी उनका रेप करवाया।

मामला 14 सितंबर का है, जब तिजारा थाना क्षेत्र में एक गाँव की पहाड़ियों की तरफ से अपने भांजे के साथ बाइक पर वापिस अपने घर लौट रही विवाहिता के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर उसका वीडियो बनाया गया और इससे भी शर्मनाक बदमाशों ने विवाहिता के भांजे को नग्न कर उससे जबरदस्ती महिला के साथ दुष्कर्म कराने की कोशिश की गई। पुलिस ने इस मामले मुख्य आरोपित सहित दो को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि एक नाबालिग आरोपित को हिरासत में लिया गया है।

डीएसपी कुशाल सिंह ने बताया, “पुलिस ने दो आरोपितों आसम मेओ और साहूद मेओ को गिरफ्तार किया और एक 16 वर्षीय नाबालिग को हिरासत में लिया। बाकी आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की टीमें हरियाणा भेजी गई हैं।”

विवाहित महिला अपने भांजे के साथ रिश्तेदारी में हरियाणा के कंसोली गाँव में पैसे देने गई थी। दोपहर बाद वह अपने रिश्तेदार को 10 हजार रुपए देकर वापस लौट रही थी। तभी बाइक सवार विवाहिता ओर उसके भांजे को तिजारा क्षेत्र के अंडरका गाँव की पहाड़ियों के पास 5-6 बदमाशों ने घेर लिया।

फिर बदमाशों ने विवाहिता के भांजे को बंधक बनाकर आसम नाम के आरोपित ने दुष्कर्म किया और अन्य बदमाशों ने वीडियो बनाई और छेड़खानी की। इतना ही नहीं, बदमाशों ने विवाहिता के भांजे को नग्न कर उससे भी दुष्कर्म करवाने का प्रयास किया और वीडियो बनाई ताकि वह इस घटना के बारे में किसी को बता नहीं सके।

आरोपितों ने इसका वीडियो भी बनाया और हरियाणा के गाँवों में सोशल मीडिया पर इसे वायरल कर दिया। बताया जा रहा है कि घटना के बाद महिला ने तुरंत शिकायत नहीं दर्ज कराई थी। लेकिन जब इसका वीडियो वायरल हुआ तब उन्होंने इस बात की जानकारी अपने पति को दी और फिर उनके सहयोग से 17 सितंबर को केस दर्ज कराया है।

बाद में दो अन्य आरोपितों को भी शनिवार (सितंबर 19, 2020) को गिरफ्तार किया गया। अलवर के एसपी रामूर्ती जोशी ने कहा, “हमने अब 5 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। अब केवल एक और व्यक्ति को पकड़ा जाना बाकी है। हम यह भी जाँच रहे हैं कि अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर कैसे वायरल किया गया।” प्रारंभिक पूछताछ के बाद, दोषियों ने पुष्टि की है कि धूता उर्फ आसम मेव मुख्य आरोपित है, जिसने पहले महिला का बलात्कार किया था और पीड़ित के भांजे को भी मजबूर किया और अश्लील वीडियो बनाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *