बच्चे को मोलेस्ट किया, पता ही नहीं था सेक्सुअलिटी क्या होती है: अनुराग कश्यप ने स्वीकारा, शब्दों से पाप छुपाने की कोशिश

अनुराग कश्यप के खिलाफ अभिनेत्री पायल घोष ने बलात्कार का मामला दर्ज कराया है। इसके साथ ही अनुराग कश्यप के साथ काम कर चुकीं तापसी पन्नू और ऋचा चड्ढा के अलावा उनकी दोनों पूर्व-पत्नियों कल्कि कोचलिन और आरती बजाज ने उनका समर्थन किया है। इसी बीच उनके कुछ वीडियोज सामने आए हैं, जिनमें उन्होंने यौन शोषण या दुर्व्यवहार की बातें स्वीकार की हैं। कंगना रनौत ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी है।

इनमें से एक वीडियो में अनुराग कश्यप दिखा रहे हैं कि ‘जॉइंट को कैसे रोल’ किया जाता है। एक वीडियो इंटव्यू में फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप कहते दिख रहे हैं कि कैसे जब वो काफी दिनों तक जूनियर थे तो सीनियर बनने पर एक जूनियर लड़के पर अपना गुस्सा उतारा। उन्होंने कहा कि वो उस लड़के को लेकर जाते थे और उसकी थप्पड़ों से पिटाई करते थे। उन्होंने बताया था कि वो उस बच्चे का यौन शोषण करते थे और उसे पता ही नहीं चलता था कि उसके साथ हो क्या रहा है।

बकौल अनुराग कश्यप, उनसे तंग आकर उस बच्चे ने अपने माता-पिता को सब कुछ बता दिया और उन्होंने आकर उनसे पूछा कि अनुराग ने उनके बच्चे के साथ क्या किया है। हालाँकि, बाद में उन्होंने कहा कि वो इन चीजों को लेकर शर्मिंदा थे और उन्हें तब यौन शोषण जैसी चीजों की समझ नहीं थी और उन्हें ये सब प्राकृतिक लगता था क्योंकि उन्हें इन सबके बारे में किसी ने नहीं समझाया था।

उन्होंने कहा कि जब क्लास में उनके दोस्त हस्तमैथुन वगैरह के बारे में बात करते थे और बताते थे कि ये कैसे किया जाता है, तो उन्हें कुछ भी समझ नहीं आता था। इसी तरह जब विकास बहल पर यौन शोषण के आरोप लगे थे तो अनुराग कश्यप ने कहा था कि उन्होंने विकास के खिलाफ कार्रवाई की थी और असल में उन्होंने कुछ नहीं किया बल्कि ‘शानदार’ फिल्म के निर्देशन के लिए उन्हें फिर से साइन कर लिया था।

राजीव सिंह राठौड़ ने ट्विटर पर एक थ्रेड के जरिए इन वीडियों को अपलोड किया है और आरोप लगाया है कि कैसे अनुराग कश्यप पर पायल घोष के यौन शोषण के आरोपों के बावजूद खुद को फेमनिस्ट कहने वाले गैंग के एक भी व्यक्ति ने पायल का समर्थन नहीं किया। उन्होंने फेमिनिस्ट गिरोह पर मूवी माफिया को बचाने का आरोप लगाया। बता दें कि पायल घोष ने एक वीडियो के जरिए अनुराग कश्यप के बारे में खुलासा किया था।

इस मामले में अनुराग कश्यप की वकील भी वही प्रियंका खिमानी हैं, जो कभी सुशांत सिंह राजपूत की वकील हुआ करती थीं। राजीव ने कहा कि ये एक बड़ा खेल है क्योंकि अनुराग इससे पहले सुशांत को ड्रग्स एडिक्टेड और साइको कहते रहे हैं लेकिन अब उनके लिए काम कर चुकी वकील को हायर कर रहे हैं। इसी तरह अपने मित्र और फिल्म निर्देशक दिबाकर बनर्जी का भी समर्थन किया था।

पायल रोहतगी ने दिबाकर पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे, तब अनुराग कश्यप ने कहा था कि जब पायल रोहतगी किसी फिल्म निर्देशक के साथ सोने की बात स्वीकार कर रही हैं तो फिर उन्हें किसी को अपना पेट दिखाने में क्या समस्या है? उन्होंने तब कहा था कि वो ‘Me Too’ के आरोपित दिबकर बनर्जी के साथ पूरी मजबूती से खड़े हैं। उन्होंने दावा किया था कि उन्हें खुद रोज ऐसे-ऐसे 50 नए एक्टर्स के मैसेज आते रहते हैं।

अनुराग कश्यप और विकास बहल ‘फैंटम फिल्म्स’ में पार्टनर थे, जो अब टूट चुकी है। आरोप है कि बहल ने एक लड़की के ऊपर बैठ कर उसके ऊपर हस्तमैथुन कर दिया। वो लड़की आर्ट डायरेक्टर थी। श्रेया नारायण ने आरोप लगाया था कि जब अनुराग कश्यप के पास पीड़िता शिकायत लेकर गई तो वो 2 साल तक चुप-चाप बैठे रहे और कुछ नहीं किया। जब सार्वजनिक बेइज्जती शुरू हुई, तब उन्होंने फैंटम को ख़त्म कर दिया।

असल में अनुराग कश्यप और इस गैंग के लोगों की आदत है कि वो अंग्रेजी के भारी-भड़कम शब्दों के जरिए अपने कुकर्म छिपाने की कोशिश करते हैं और इसे आधुनिक सोच का रूप दे देते हैं। उनके हिसाब से उनके सारे पाप सही हो जाते हैं क्योंकि उन्होंने लिबरल चोला चोला ओढ़ लिया है, जबकि जो उनकी विचारधारा से मेल नहीं खाते, 100 साल पहले उनके पूर्वजों में से कोई साइकिल चलाते हुए भी गिर गया हो तो वो इसे ऐसा पाप मानते हैं, जिसके लिए कोई भी सज़ा कम ही है।

पायल घोष ने कहा था, “मैं अनुराग से बात करने के अगले दिन उनसे मिलने गई। वह शराब पी रहा था। मिलने के बाद वह मुझे दूसरे कमरे में ले गया। वहाँ उसने अपनी ज़िप खोली और मेरी सलवार कमीज खोलकर मेरी योनि (vagina) के अंदर अपने c**k (penis) को जबरदस्ती डालने की कोशिश की। उन्होंने मुझसे इस तरह बात की जैसे फिल्म इंडस्ट्री में शारीरिक संबंध बनाना गलत नहीं था। उन्होंने कहा कि हुमा कुरैशी, ऋचा चड्डा और मही गिल जैसी अभिनेत्रियाँ हमेशा उनसे फोन पर संपर्क में रहती हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *