UNGA में इमरान खान ने ‘कश्मीर’ पर उगला जहर तो भारत ने दिया करारा जवाब- PoK पर अवैध कब्जा खाली करो

वॉशिंगटन। संयुक्त राष्ट्र (UN) की स्थापना के 75 वर्ष पूरे हो चुके हैं और इसी बीच संयुक्त राष्ट्र आम सभा (UNGA) की बैठक भी चल रही है. इस बैठक में वर्चुअल तरीके से दुनिया के शीर्ष नेता शामिल हुए, जिसमें बात करते हुए पाक के पीएम इमरान खान ने कश्मीर का मुद्दा उठाया. इमरान खान के बयान के बाद भारत सरकार की तरफ से मिजितो विनितो (Mijito Vinito) ने पाकिस्तान की जमकर खबर ली. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को अब PoK खाली करना होगा.

पाकिस्तान को दुनिया के सामने किया बेनकाब
संयुक्त राष्ट्र में भारतीय मिशन के प्रथम सचिव मिजितो विनितो (Mijito Vinito) ने कहा, ‘इमरान खान ने भारत को लेकर कई बातें कहीं, लेकिन हैरानी की बात है कि उन्होंने ये सब खुद के बारे में कहा. पाकिस्तान के पास इस महासभा में झूठ बोलने के सिवाय कुछ भी नहीं था.’

ओसामा बिन लादेन को इमरान खान ने बताया था शहीद: भारत
भारत का पक्ष रखते हुए मिजितो विनितो ने कहा कि  इमरान खान (Imran Khan) ने खुद पाकिस्तान की संसद में ओसामा बिन लादेन (Osama Bin Laden) को ‘शहीद’ करार दिया था. यही नहीं, खुद इमरान खान ने 2019 में अमेरिका में माना था कि उनके देश में 30 से 40 हजार आतंकियों के ट्रेनिंग दी गई. और फिर उन्हें भारत और अफगानिस्तान (Afghanistan) में आतंकवाद फैलाने के लिए भेजा गया. खास कर भारत के जम्मू और कश्मीर (Jammu & Kashmir) में. ‘

पीओके खाली करे पाकिस्तान
उन्होंने साफ शब्दों में कहा, ‘कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और जिन इलाकों पर ‘पाकिस्तान (Pak Occupied Kashmir) का कब्जा है. उसे खाली किया जाए.’ राइट टू रिप्लाई के तहत भारत ने पाकिस्तान को ये जवाब दिया है.

अल्पसंख्यकों का नस्लीय सफाया बंद करे पाकिस्तान
मिजितो विनितो ने पाकिस्तान के अंदर हो रहे धार्मिक उत्पीड़न को दुनिया के सामने रखा. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में हिंदुओं, ईसाईयों और सिखों के साथ ही अन्य धार्मिक, नस्लीय समूह के लोगों का सफाया किया जा रहा है. उनके ऊपर धर्म के अपमान का आरोप लगाकर उन्हें कजा दी जा रही है और जबरन उनका धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है.

भारत ने इमरान खान के भाषण का किया बहिष्कार
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने पहले से रिकॉर्ड किये वीडियो संबोधन में जम्मू-कश्मीर समेत भारत के आतंरिक मामलों का जिक्र किया. खान के संबोधन में जैसे ही भारत का जिक्र आया, वैसे ही संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन के प्रथम सचिव मिजितो विनितो महासभा हॉल से बाहर चले गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *