हाथरस मामला: पीड़िता ने तीन बार बदला था अपना बयान, पुलिस ने किया ये खुलासा

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस (Hathras) में 14 सितंबर ऐसी हैवानियत सामने आई जिसने पूरे देश को हिला कर रख दिया. बताया जा रहा है कि 19 साल की लड़की के साथ पहले आरोपियों ने गैंगरेप (Gangrape) किया और उसके बाद उसकी जीभ काट दी ताकि वह किसी के सामने कुछ न बोल सके.  इतना ही नहीं दरिदों ने उसके साथ मारपीट कर रीढ़ की हड्डी भी तोड़ दी. बाद में लड़की को अस्पताल में भर्ती तो कराया गया था. लेकिन 15 दिन के बाद पीड़िता ने 29 सितंबर को सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया. वहीं पुलिस के मुताबिक अभी तक लड़की के रेप की पुष्टि नहीं हुई है.

हाथरस रेप मामले में पुलिस ने कहा, पीड़ित लड़की ने तीन बार बयान दिया और तीनों अलग-अलग हैं. 14 सितंबर को लड़की ने लिखित में शिकायत की थी जिसमें उसने बताया कि संदीप नाम के लड़के ने उसे मारने की कोशिश की, उसका गला दबाया जिसके बाद पुलिस ने 307 एक्ट और  SC/ST Act केस दर्ज किया.

पुलिस के अनुसार लड़की ने दूसरा बयान 22 सितंबर को आलीगढ़ मेडिकल कॉलेज में दिया था जिसमें उसने संदीप पर छेड़कानी का आरोप लगाया. इसके बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ  354 के तहत मामला दर्ज किया था. पुलिस के अनुसार तीसरा बयान में लड़की ने 27 सितंबर को रेप का आरोप लगाया और उसमें 3 और लड़कों के नाम लिए जिसके बाद पुलिस ने 376 का मामला दर्ज किया गया था.

इस संबंध में हाथरस पुलिस ने सोशल मीडिया पर बयान जारी किया है जिसमें जीभ काटने और रीड की हड्डी तोड़ने की बात से साफ इंकार किया है. पुलिस ने ट्विटर पर लिखा, ”सोशल मीडिया के माध्यम से यह असत्य खबर सार्वजनिक रुप से फैलाई जा रही है कि थाना चंदपा क्षेत्रान्तर्गत दुर्भाग्यपूर्ण घटित घटना में मृतिका की जीभ काटी गई, आंख फोड़ी गई और रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई थी. हाथरस पुलिस इस असत्य एवं भ्रामक खबर का खंडन करती है.”

पुलिस ने बयान में आगे लिखा, “सच्चाई यह है कि मेडिकल रिपोर्ट में जीभ काटने व आंख फोड़ने का कोई उल्लेख नहीं है. रीढ़ की हड्डी भी तोड़ी नहीं गई, बल्कि गला दबाने के कारण रीढ़ की हड्डी ठीक से काम नहीं कर रही है एवं गर्दन दबाने पर दांतों के बीच में जीभ के आ जाने के कारण चोट का निशान है.”

आईजी पीयूष मोर्डिया ने मामले पर जानकारी देते हुए कहा, “14 सितंबर को 10:30 बजे पीड़िता के भाई सत्येंद्र ने एक लिखित तहरीर दी. उसने कहा कि जब उसकी बहन बाजरे के खेत में घास काट रही थी तो संदीप नाम के एक लड़के ने गला दबाकर उसे जान से मारने का प्रयास किया. सत्येंद्र की लिखित तहरीर पर तुरंत FIR दर्ज की गई और पीड़िता को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *