हाथरसः पीड़िता के परिवार से बोले जिलाधिकारी प्रवीण कुमार- लड़की कोरोना से मरती तो मुआवजा मिलता?

हाथरस/लखनऊ। हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों की ओर से गंभीर आरोप लगाए जाने के बाद जिलाधिकारी प्रवीण कुमार सवालों के घेरे में हैं. पीड़िता के परिजनों ने डीएम पर धमकाने और दबाव डालने का आरोप लगाया है. इतना ही नहीं पीड़िता की भाभी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि डीएम ने उनके ससुर से कहा है कि अगर तुम्हारी बेटी अभी कोरोना से मर जाती तो क्या मुआवजा मिल पाता?

दरअसल, एक वीडियो सामने आया है, जिसमें डीएम पीड़ित परिवार को धमकी देते दिख रहे हैं. हाथरस के डीएम कह रहे हैं कि मीडिया वाले तो चले जाएंगे, लेकिन प्रशासन को यहीं रहना है. पीड़ित परिवार का कहना है कि उनको धमकाया जा रहा है. केस को रफा-दफा करने के लिए दवाब डाला जा रहा है.

वीडियो में हाथरस के डीएम प्रवीण कुमार पीड़िता के परिवार से कह रहे हैं कि आप अपनी विश्वसनीयता खत्म मत कीजिए… मीडिया वाले आधे चले गए हैं… कल सुबह आधे निकल जाएंगे… दो-चार बचेंगे कल शाम… हम आपके साथ खड़े हैं… अब आपकी इच्छा है कि आपको बयान बदलना है या नहीं.

पीड़िता की भाभी ने क्या कहा

वीडियो में पीड़िता की भाभी कहती हैं कि हमसे बोला गया कि तुम्हारी लड़की अगर कोरोना से मर जाती तो मुआवजा मिल जाता क्या. हमें धमकियां मिल रही हैं. पापा को धमकाया जा रहा है. उस वक्त हालात ऐसे थे कि जो मन में आ रहा था हम लोग बोल रहे थे. अब ये लोग हमें यहां रहने नहीं देंगे.

सरकार ने दी 25 लाख की सहायता राशि

बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने पीड़िता के परिवार को 25 लाख रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है. यूपी सरकार परिवार के एक सदस्‍य को नौकरी भी देगी. इसके अलावा परिवार को एक घर भी आवंटित किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *