हाथरस केस : खुद को चश्मदीद बताने वाले छोटू को CBI ने फिर बुलाया, एक बार आठ घंटे तक हो चुकी है पूछताछ

cbi interrogated chhotu who made himself an eyewitness of hathras gangrape case was called again onc
हाथरस/लखनऊ। हाथरस केस में रविवार काे भी सीबीआई जांच जारी रही। टीम ने एक बार खुद को चश्मदीद बनाने वाले छोटू को पूछताछ के लिए बुलाया। छोटू का दावा थ्ज्ञा कि घटना के बाद सबसे पहले मौके पर वहीं पहुंचा था। शुक्रवार को भी सीबीआई छोटू से आठ घंटे तक पूछताछ कर चुकी है।

डॉक्टर,फार्मासिस्ट सहित तीन लोगों से की सीबीआई ने पूछताछ

शनिवार को सीबीआई ने बागला अस्पताल के डॉक्टर, फार्मासिस्ट के अलावा चंदपा क्षेत्र के एक गांव के व्यक्ति को पूछताछ के लिए बुलाया था। करीब तीन घंटे तक इनसे पूछताछ की गयी थी। 14 सितम्बर को वारदात के बाद पीड़िता को उसके परिवार के लोग उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर आये थे। उस वक्त ड्यूटी पर डॉक्टर रमेश बाबू और फार्मासिस्ट नरेन्द्र कुमार इमरजेंसी में थे। दोनों ने ही उसका उपचार किया। उसके बाद पीड़िता को अलीगढ़ मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। 29 सितम्बर को पीड़िता की दिल्ली के सफदरगंज में जाकर मौत हो गयी। इसलिए शनिवार को सीबीआई ने डॉक्टर और फार्मासिस्ट दोनों को बुलाया। दोनों ही लोग जिला अस्पताल से सीएमएस की गाड़ी से सीबीआई के कैम्प कार्यालय पर दोपहर के 12:34 मिनट पर पहुंच गये। दोनों से 3:30 मिनट तक पूछताछ हुई। दोपहर के दो बजे के करीब चंदपा कोतवाली के उप निरीक्षक प्रमोद कुमार शर्मा सरकारी गाड़ी से चंदपा क्षेत्र के एक गांव के व्यक्ति को पूछताछ के लिए लेकर पहुंचे। डेढ़ घंटे तक उससे पूछताछ हुई। बाद में पुलिस अपने साथ ही उस व्यक्ति को वापस ले गयी।

खेत मालिक के दो बेटों से आठ घंटे की सीबीआई ने पूछताछ
दो दिन पहले उस खेत मालिक के दो बेटों को पूछताछ के लिए बुलाया जिस में वारदात को अंजाम दिया गया था। बताया गया है कि घटना के समय खेत मालिक का बेटा चारा लेने खेत पर आया था और घटना के बाद सबसे पहले वही मौके पर पहुंचा था। सीबीआई ने करीब आठ घंटे तक दोनों भाइयों से पूछताछ की। पीड़िता के परिवार से सीबीआई हर पहलू पर लगभग बातचीत कर चुकी है। इसके साथ ही टीम ने आरोपियों के परिजनों से बातचीत की है। गुरुवार को अधिकारियों ने आरोपियों के घर पर जाकर कई घंटे की लंबी पूछताछ की थी। इस पूछताछ के दौरान सीबीआई के सामने छोटू नाम के युवक का नाम आया। जिस खेत में घटना होना बताया जा रहा है वह खेत छोटू के पिता का है। छोटू एसआईटी को अपना बयान दे चुका है। इसमें बताया था कि 14 सितम्बर को जिस वक्त घटना हुई थी उस समय थोड़ी दूरी पर ही वह खेत में काम कर रहा था। शोर सुनने के बाद मौके पर पहुंचा था। ऐसे में सीबीआई के लिए छोटू के बयान भी खासे महत्व रखते हैं। सीबीआईने शुक्रवार को छोटू और उसके भाई को बुला लिया। दोपहर को दोनों भाई दोपहर के करीब दो बजे सीबीआई के कैम्प कार्यालय आ गये। करीब सात बजे तक दोनों से पूछताछ चलती रही। बताया जाता है कि चंदपा के तत्कालीन इंस्पेक्टर डीके वर्मा से भी सीबीआई ने पूछताछ की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *