दिल्ली में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, लगातार पांचवें दिन 100 से ज्यादा मरीजों ने तोड़ा दम

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. पिछले 24 घंटे में देश की राजधानी में 6224 नए मामले सामने आए हैं और 109 लोगों की मौत हुई है. इसी के साथ दिल्ली में लगातार पांचवें दिन 100 से ज्यादा लोगों ने दम तोड़ा है.

दिल्ली में कोरोना के कुल 5,40,541 केस हो गए हैं. पिछले 24 घंटे में 4943 मरीज ठीक हुए हैं. अब तक कुल 4,93,419 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. दिल्ली  में कोरोना के 38,501 एक्टिव केस हैं. कोरोना वायरस की वजह से दिल्ली में औसतन हर घंटे में 5 लोगों की मौत हो रही है. इससे पहले सोमवार को दिल्ली में 121 लोगों की कोरोना से मौत हुई थी.

दिल्ली में लगातार बढ़ते कोरोना के मामले पर एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि त्योहारी सीजन में कोरोना नियमों की अनदेखी देखने को मिली है. शादी जैसे समारोह में लोग फोटो खिंचाने के लिए मास्क लगाना तक भूल गए. कोरोना से बचने के लिए निर्धारित सभी नियमों का पालन करना बहुत जरूरी है.

राजधानी में कोरोना के बढ़ते नए मामलों के साथ ही मौत के आंकड़ों ने चिंता बढ़ा दी है. दिल्ली सरकार द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, सिर्फ नवंबर के महीने में कोरोना से 2000 से ज्यादा मौतें दर्ज की गई हैं. नवंबर से पहले जून के महीने में मौत का आंकड़ा 2000 के पार पहुंचा था. लेकिन, नवंबर में तेजी से दर्ज हो रहे मौत के आंकड़े जून महीने का रिकॉर्ड भी तोड़ सकते हैं.

1 नवंबर – 51 मौत
2 नवंबर – 42 मौत
3 नवंबर – 48 मौत
4 नवंबर – 51 मौत
5 नवंबर – 66 मौत
6 नवंबर – 64 मौत
7 नवंबर – 79 मौत
8 नवंबर – 77 मौत
9 नवंबर – 71 मौत
10 नवंबर – 83 मौत
11 नवंबर – 85 मौत
12 नवंबर – 104 मौत
13 नवंबर – 91 मौत
14 नवंबर – 96 मौत
15 नवंबर – 95 मौत
16 नवंबर – 99 मौत
17 नवंबर – 99 मौत
18 नवंबर – 131 मौत
19 नवंबर – 98 मौत
20 नवंबर – 118 मौत
21 नवंबर – 111 मौत
22 नवंबर – 121 मौत
23 नवंबर- 121 मौत
24 नवंबर- 109 मौत

उधर, दिल्ली सरकार का कहना है कि पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण के कारण भी ज्यादा मौतें हो रही हैं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि पराली के जलने से जो प्रदूषण हुआ उससे कोविड पीड़ित के केस काफी खराब हुए और इस वजह से डेथ रेट में भी इजाफा हुआ. पिछले तीन-चार दिन से प्रदूषण काफी कम है इसका प्रभाव देखने को मिलेगा और मौत कम होंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *