अधिक संक्रमण दर वाले जनपदों में बचाव तथा उपचार की व्यवस्था को बेहतर बनाया जाए: मुख्यमंत्री

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड-19 से बचाव तथा उपचार की व्यवस्था को निरन्तर सुदृढ़ बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोरोना के सम्बन्ध में थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है। इसलिए हर स्तर पर पूरी सावधानी व सर्तकता बरतना आवश्यक है।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अधिक संक्रमण दर वाले जनपदों में कोविड-19 से बचाव तथा उपचार की व्यवस्था को बेहतर बनाया जाए। उन्होंने जनपद लखनऊ और मेरठ पर विशेष ध्यान देकर इन जिलों की चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री जी ने केजीएमयू, लखनऊ की चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि वरिष्ठ चिकित्सकों द्वारा नियमित राउण्ड लेकर मरीजों को देखा जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि जनपदों में इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए। जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा सुबह कोविड चिकित्सालय में तथा शाम को इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर में प्रतिदिन अनिवार्य रूप से समीक्षा बैठक आहूत की जाए। उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव कार्यालय तथा मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा इन बैठकों की स्थिति  की समीक्षा की जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पूरे प्रदेश में आई0सी0यू0 बेड्स की पर्याप्त व्यवस्था रखी जाए। फोकस्ड टेस्टिंग किए जाने पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि कोविड-19 की मेडिकल टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से संचालित करते हुए इसे बढ़ाने का प्रयास किया जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लोगों को मास्क लगाने के लिए प्रेरित किया जाए। इस सम्बन्ध में जागरूकता सृजित करने के लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक उपयोग करते हुए आमजन को कोविड-19 से बचाव की जानकारी दी जाए। कोविड-19 के प्रोटोकाॅल के पालन के लिए जनता को निरन्तर प्रोत्साहित किया जाए। शादी समारोह में कोई व्यवधान न उत्पन्न किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *