एक को पाकिस्तान की महिला एजेंट नंगी होकर करती थी कॉल, दूसरा पत्नी से रहता था अलग: ISI के हनी ट्रैप की डिटेल

भारत-पाकिस्तान सीमा के सटे राजस्थान के जैसलमेर के 42 वर्षीय सत्यनारायण पालीवाल को CID के स्पेशल ब्रांच ने पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने के आरोप में रविवार (जनवरी 10, 2021) को गिरफ्तार किया। उसे 3 दिन पहले पोखरण फायरिंग रेंज से हिरासत में लिया गया था। 2 दिन तक चली पूछताछ में कई खुलासे हुए और उस पर लगे जासूसी के आरोप भी सही पाए गए। ISI की महिला एजेंट न्यूड होकर उसे वीडियो कॉल करती थी और सूचनाएँ उगलवाती थी।

पोखरण में देश का सबसे बड़ा फायरिंग रेंज है। उसके नजदीक ही लाठी नाम का गाँव है, जहाँ सत्यनारायण रहता था। उसके परिवार की एक महिला सरपंच है, इसीलिए वो भी गाँव में नेतागिरी करता था। कुछ वर्षों पहले ISI की महिला एजेंट ने उससे संपर्क किया था। उसने खुद को भारतीय बताते हुए सत्यनारायण से दोस्ती की। हनी ट्रैप में फँसाने के लिए वीडियो कॉल भी शुरू कर दिया। जैसलमेर की सामरिक जानकारियाँ जुटाने के लिए उसे लालच दिया गया था।

साथ ही वो पोखरण में सेना की गतिविधियों की जानकारी भी दिया करता था। जब उसके मोबाइल फोन को पुलिस ने जब्त कर जाँच की तो उसमें ISI के महिला एजेंट की कई न्यूड तस्वीरें मिलीं, जिसके स्क्रीनशॉट्स लेकर उसने सेव कर रखी थी। एडीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा ने बताया कि उसके खिलाफ जयपुर के स्पेशल पुलिस स्टेशन पर शासकीय गुप्त बात अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसकी पुष्टि हुई है कि पाकिस्तान की महिला ISI एजेंट जासूसी के एवज में उसे न्यूड होकर वीडियो कॉल करती थी।

करीब पिछले एक महीने से इंटेलिजेंस की टीम उस पर नजर रखे हुए थी। सेन्ट्रल और लोकल ख़ुफ़िया एजेंसियों ने भी उससे पूछताछ की। पोखरण में नियमित रूप से हथियारों और सैन्य साजो-सामान का ट्रायल चलता रहता है।

इसी तरह से मेरठ के सौरभ शर्मा को भी जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया। रिश्ते ठीक नहीं होने के कारण वह अपनी पत्नी से अलग रहता था। गुजरात के हैंडलर ने कई बार उसकी और उसकी पत्नी के बैंक खातों में रुपए डाले थे।

अब पुलिस का सरदर्द ये है कि उसकी पत्नी नेहा सिंह अलग रहती थी, फिर भी उसके अकाउंट में रुपए क्यों डाले जाते थे और उसकी क्या भूमिका थी। नेहा की दूसरी शादी की सूचना मिली है, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हुई है। बैंक खातों की जाँच चल रही है। गोधरा का हैंडलर अनस भी गिरफ्तार किया जा चुका है। अब पुलिस जाँच कर रही है कि उत्तर प्रदेश में उसके कौन-कौन साथी हैं। स्थनीय एजेंसियाँ भी जाँच में जुटी हैं।

सौरभ ने एटीएस के सामने स्वीकार किया है कि वह पैसों के लालच में सेना की गोपनीय सूचनाएँ समय-समय पर व्हाट्सप्प के माध्यम से पाकिस्तान की एक महिला खुफिया अधिकारी को भेजता था। सौरभ शर्मा की 2014 में फेसबुक के माध्यम से एक लड़की से दोस्ती हुई थी। लड़की से उसकी काफी दिनों तक बातचीत होती रही। लड़की ने खुद को सेना की रिपोर्टिंग करने वाली पत्रकार बताया था। सौरभ पाकिस्तान का जासूस बनकर काम करने लगा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *