रिलायंस इंडस्ट्रीज को पछाड़कर नंबर-1 कंपनी बनी TCS, फिर कुछ देर में हुआ ऐसा

टीसीएस एक बार फिर सबसे मूल्यवान घरेलू कंपनी बनी

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) कंपनी ने बीते शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद दिसंबर तिमाही के नतीजे घोषित किए थे. RIL के तिमाही नतीजे निवेशकों को खुश नहीं कर सके, जिस वजह से सोमवार को रिलायंस के शेयरों में जोरदार मुनाफावसूली देखने को मिली.
RIL के शेयरों में बड़ी गिरावट

सोमवार को RIL के शेयरों में बड़ी गिरावट की वजह से कारोबार के दौरान कंपनी खिसककर दूसरे नंबर पर पहुंच गई. वहीं टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) सोमवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को पीछे छोड़ते हुए मार्केट कैप के लिहाज से देश की सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई.

बाजार की चाल

दोपहर के कारोबार के दौरान TCS का मार्केट कैप 12,45,341.44 करोड़ रुपये था, जबकि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) का बाजार पूंजीकरण घटकर 12,42,593.78 करोड़ रुपये रह गया.

कारोबार के अंत में RIL फिर नंबर 1

हालांकि कारोबार के अंत में RIL फिर मार्केट कैप के हिसाब से नंबर 1 पहुंच गया. कारोबार के अंत में टीसीएस का मार्केट कैप 12.17 लाख करोड़ रुपये जबकि रिलायंस का मार्केट कैप 12.76 लाख करोड़ रुपये रहा. यानी अब फासला बेहद कम है.

RIL के तिमाही नतीजे से निवेशक खुश नहीं

RIL के तिमाही नतीजे निवेशकों को खुश नहीं कर सके, जिसके चलते सोमवार को शेयर एनएसई में 5.58 फीसदी की गिरावट के साथ 1,935 पर बंद हुआ. इसके विपरीत टीसीएस के शेयर मामूली 0.15 प्रतिशत की गिरावट के साथ 3,298 रुपये पर बंद हुआ.
करीब 10 महीने के बाद उलटफेर

गौरतलब है कि टीसीएस ने मार्च-2020 में सबसे मूल्यवान कंपनी का दर्जा खो दिया था, जिसे उसने सोमवार को शेयर बाजार के कारोबार के दौरान दोबारा हासिल कर लिया. शेयर की कीमतों में उतार-चढ़ाव के साथ कंपनियों का बाजार पूंजीकरण हर दिन बदलता रहता है.

टीसीएस के शेयरों में लगातार तेजी

इसके अलावा TCS पिछले साल अक्टूबर में भी Accenture को पछाड़कर दुनिया की सबसे मूल्यवान आईटी सर्विसेज कंपनी बनी थी. मार्च 2020 से टीसीएस के शेयरों में 80 फीसदी से अधिक तेजी आई है. दिसंबर तिमाही में शानदार नतीजों के कारण कंपनी के शेयरों में हाल में तेजी आई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *