अश्विन ने टेस्ट में स्टोक्स को सबसे ज्यादा बार आउट करने का रिकॉर्ड बनाया

भारतीय स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट हासिल कर लिए हैं और इस उपलब्धि तक पहुंचने के दौरान उन्होंने इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को सबसे ज्यादा बार आउट किया है. 34 वर्षीय अश्विन अपने अब तक के 77 टेस्ट मैचों के करियर में स्टोक्स को 11वीं बार टेस्ट में अपना शिकार बनाया है. इसके बाद उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर को 10 बार आउट किया है.

वहीं, भारतीय ऑफ स्पिनर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलेस्टेयर कुक को नौ बार और ऑस्ट्रेलिया के एड कॉवेन और जेम्स एंडसरन को सात-सात बार अपना शिकार बना चुके हैं.

अश्विन ने यहां मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लैंड के साथ खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को यह टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने की उपलब्धि हासिल की. अश्विन ने इंग्लैंड के बल्लेबाज जोफरा आर्चर को पगबाधा आउट करके टेस्ट क्रिकेट में अपने 400 विकेट पूरे किए.

अश्विन ने अपना पहला टेस्ट विकेट नवंबर 2011 में दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर वेस्टइंडीज के बल्लेबाज डैरन ब्रावो का लिया था. इसके बाद उन्होंने अपना 50 टेस्ट विकेट नवंबर 2012 में अहमदाबाद में निकॉ कॉम्पटन का, 100 विकेट नवंबर 2013 में मुंबई में डैरेन सैमी का, 150वां विकेट नवंबर 2015 में मोहाली में इमरान ताहिर का, 200वां विकेट सितंबर 2016 में कानपुर में केन विलियम्सन का, 250वां विकेट फरवरी 2017 में हैदराबाद में मुश्फिकुर रहीम का, 300वां विकेट नवंबर 2017 में नागपुर में लाहिरू गमगे का और 350वां विकेट अक्टूबर 2019 में विशाखापटटनम में थिएनुस डिब्रुइन का लिया था.

स्पिनर रविचंद्रन अश्विन

स्पिनर रविचंद्रन अश्विन

अश्विन से पहले कपिल देव, अनिल कुंबले और हरभजन सिंह भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट ले चुके हैं. कुंबले के नाम 132 टेस्ट मैचों में 619 विकेट, कपिल देव के नाम 131 टेस्ट मैचों में 343 और हरभजन के नाम 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट है.

अश्विन साथ ही विश्व क्रिकेट में दूसरा सबसे तेज 400 विकेट लेने की भी उपलब्धि हासिल कर ली है. उन्होंने 77 मैचों में 25.01 की औसत से 2.83 के इकॉनमी रेट से टेस्ट मैच में 400 विकेट लिए हैं.

उनसे आगे श्रीलंका के पूर्व स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ही हैं, जिनके नाम सबसे तेजी से 400 विकेट लेने का रिकॉर्ड है.

मुरलीधरन ने गॉल 2002 में जिम्बाब्वे के खिलाफ 72 मैचों में यह कीर्तिमान स्थापित किया था.

उनके बाद न्यूजीलैंड के रिचर्ड हैडली 80 टेस्ट मैचों में और दक्षिण अफ्रीका के डेल स्टेन ने 80 टेस्ट मैचों में 400 विकेट लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *