महिलाओं के विकास के लिए सरकार कृत संकल्प

सवा छह लाख को मिल चुका है सुमंगला योजना का लाभ : स्वाती सिंह

लखनऊ। महिलाओं और बालिकाओं के विकास के लिए केन्द्र की नरेंद्र मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार कृत संकल्प है। यहां सरकार कोई भी योजना लाती है तो उसके अमल और भ्रष्टाचार मुक्त होने पर विशेष ध्यान देती है। हर योजना धरातल पर उतारी जाती है, जिससे आमजन तक योजना का लाभ मिल सके। अभी मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना अभी दो साल भी लागू हुए नहीं हुई और प्रदेश में 6.15 लाख लाभार्थियों को लाभान्वित किया जा चुका है। ये बातें प्रदेश सरकार में महिला कल्याण तथा बाल विकास एवं पुष्टाहार मंत्री स्वाती सिंह ने कहीं।
उन्होंने विशेष वार्ता में कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिस दिन से कुर्सी संभाली, उस दिन से सर्वाधिक चिंता महिलाओं के विकास पर की। महिलाओं के साथ होने वाले अपराध पर अंकुश लगाने के लिए भी सरकार ने कई कदम उठाये। महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा तथा सामाजिक, आर्थिक सशक्तिकरण के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 181 महिला हेल्प लाइन के रूप में पहल की गयी। यह चौबिस घंटे सातों दिन काम करता है। इस हेल्प लाइन को 2020-21 में 112 केन्द्रीय कृत काल सेंटर के साथ समेकित किया गया। इस सेंटर से वर्ष 2020-21 में 1.23 लाख महिलाओं को सहायता प्रदान की गयी। उन्होंने कहा कि आज योगी सरकार में महिलाएं खुशहाल हैं। वे पुरूषों के साथ कदम-ताल मिलाकर काम कर रही हैं।
तीन लाख तक की आय वाले सुमंगला से होते हैं लाभांवित
यह बता दें कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में जिनकी वार्षिक आय तीन लाख तक है और जिनके परिवार में अधिकतम दो बच्चे हैं, उन्हें लाभ दिया जाता है। इस योजना के अंतर्गत बालिक जन्म पर दो हजार रुपये, एक वर्ष पर एक हजार, कक्षा छह में प्रवेश पर दो हजार, कक्षा नौ में प्रवेश पर तीन हजार, तथा कक्षा दस में प्रवेश पर पांच हजार रुपये दिये जाते हैं।
निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत 2020-21 में 28 लाख महिलाएं लाभान्वित
उन्होंने बताया कि निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत 2020-21 में 27.95 लाख महिलाओं को लाभान्वित किया गया है। इस योजना में प्रति माह पांच सौ रुपये की दर से चार तिमाही में पेंशन का भुगतान पीएफएमएस के माध्यम से किया जाता है। इसके अतिरिक्त नियमित अनुदान के अलावा पांच सौ की दो किश्तों में 1000 रुपये की अतिरिक्त सहायता भी प्रदान की जाती है।
बेटी पढ़ाओं, बेटी बढ़ाओ योजना के तहत 51 लाख महिलाओं को किया जागरूक
स्वाती सिंह ने कहा कि बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं योजना के अंतर्गत हर जनपद में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। नुक्कड़ नाटक, प्रतियोगिता, वाल राइटिंग के माध्यम से जन सामान्य को जागरूक किया जा रहा है। यह योजना 68 जनपदों में संचालित है। इस योजना के अंतर्गत कुल 1,17,091 गतिविधियों के माध्यम से 51,25,579 महिलाओं और बालिकाओं को जागरूक किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *