अनुराग कश्यप, तापसी पन्नू और अन्य के ठिकानों पर लगातार दूसरे दिन रेड, ED का भी कस सकता है शिकंजा

फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप, अभिनेत्री तापसी पन्नु और अन्य के यहाँ लगातार दूसरे दिन 4 मार्च को भी आयकर विभाग की छापेमारी जारी है। कश्यप, पन्नू, विकास बहल और मधु मंटेना के मुंबई, पुणे सहित अन्य जगहों पर 22 ठिकानों पर 3 मार्च को छापेमारी की कार्रवाई शुरू हुई थी।

बुधवार को अधिकारियों ने छापेमारी के दौरान इन फ़िल्मी हस्तियों से पूछताछ करते हुए कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस और दस्तावेजों की जाँच की थी। विभाग के अधिकारी जानना चाहते थे कि आखिर टैक्स चोरी की रकम का बँटवारा कैसे हुआ। इससे क्या-क्या खरीदा गया और कहीं इस रकम को मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए देश से बाहर तो नहीं भेजा गया।

अधिकारियों ने जाँच के दौरान कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों को कब्जे में लिया है। कहा जा रहा है कि तापसी और अनुराग के घर प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी छापा मार सकता है। इसके साथ ही छापेमारी में हाथ आए दस्तावेजों और सबूतों के आधार पर जाँच और बढ़ सकती है। संभव है कि अनुराग और तापसी की व्हॉट्सएप चैट भी खँगाली जाए और जिन लोगों ने उनकी फिल्मों में निवेश किया उनसे भी पूछताछ हो।

बता दें कि कल आईटी विभाग ने मुंबई और पुणे में 22 ठिकानों में छापेमारी की थी। इनमें अनुराग कश्यप का फ्लैट और फैंटम फिल्म, जिसकी कमाई पर पूरी जाँच केंद्रित है, उसके दफ्तर पर भी रेड पड़ी। वहीं मधु के आवास पर भी 6 अधिकारी पहुँचे। साथ ही उनकी कंपनी पर भी 8 लोगों ने छापेमारी कर 4 लोगों के अकाउंट सीज कर दिए।

इस रेड की खबर आते ही सोशल मीडिया पर हड़कंप मच गया। वहीं कॉन्ग्रेस और एनसीपी ने इस कार्रवाई को केंद्र सरकार का बदला कहा। जबकि केंद्र की मानें तो आईटी रेड कानून के मुताबिक हुई है। प्रशांत भूषण इस रेड से इतना आहत हुए कि उन्होंने केंद्रीय एजेंसियों को सरकार की ए टीम करार दे दिया।

उन्होंने बीबीसी का कार्टून शेयर करते हुए लिखा, “अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू ने अपने ट्विटर अकाउंट से सरकार के खिलाफ एक-दो ट्वीट क्या किए, कि इनकम टैक्स विभाग उनका अकाउंट देखने पहुँच गया! इनकम टैक्स, एनफोर्समेंट विभाग, एनआईए और पुलिस इस सरकार की ए टीम है।”

वहीं तेजस्वी यादव ने कहा कि पहले तो केवल राजनीतिक प्रतिद्वंदियों का चरित्र हनन किया गया। अब नाजी सरकार सोशल कार्यकर्ताओं, पत्रकारों और, कलाकारों को भी धमका रही है।

मालूम हो कि अनुराग कश्यप के समर्थन में महाराष्ट्र सरकार को बोलते देख पायल घोष ने भी तीखी टिप्पणी की है। पायल ने लिखा, “पूरी महाराष्ट्र सरकार अनुराग कश्यप के समर्थन में आ गई है। अब सब स्पष्ट है कि मुंबई पुलिस द्वारा अनुराग कश्यप के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई और मुझे पर्याप्त सबूत उपलब्ध करवाने को कहा।”

गौरतलब है अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू पहले ऐसे बॉलीवुड के जाने-माने चेहरे नहीं है जिन पर आईटी विभाग ने शिकंजा कसा हो। इससे पूर्व एकता कपूर के घर पर भी आईटी ने रेड मारी थी। ये मामला शूटआउट एट वडाला के रिलीज से पहले का है। इसी प्रकार कटरीना कैफ के घर पर भी साल 2011 में छापा पड़ा था। प्रियंका चोपड़ा के घर भी 2011 में छापेमारी हुई थी। इसी तरह 90 के दशक की मशहूर अदाकारा माधुरी दीक्षित के घर भी सालों पहले आईटी रेड पड़ी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *