सबसे आगे उत्तर प्रदेश: 20 लाख कोरोना वैक्सीन की डोज लगाने वाला पहला राज्य बना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहाँ 20 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन का लाभ मिला है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस उपलब्धि पर संतोष जाहिर किया है। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि सारी चीजें पारदर्शी तरीके से होनी चाहिए और पोर्टल पर प्रत्येक दिन के टीकाकरण के आँकड़ों को अपलोड किया जाए। ये आँकड़े जिलावार दर्ज कर सार्वजनिक किए जाएँगे।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि नियमित मॉनीटरिंग करते हुए लक्षित आयु वर्ग के अधिक से अधिक लोगों को इसके लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया जाए। रविवार (मार्च 7, 2021) को उन्होंने अपने सरकारी आवास पर कोरोना के खिलाफ लड़ाई को लेकर चल रही तैयारियों की समीक्षा की और ज़रूरी निर्देश दिए। उन्होंने सुझाव दिया कि जिले में बने इंटीग्रेटेड कमांड और कंट्रोल सेंटरों का उपयोग भी टीकाकरण के लिए किया जाए।

महाराष्ट्र और केरल को छोड़ दें तो पूरे देश में कोरोना संक्रमण में खासी कमी आई है और उत्तर प्रदेश का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने याद दिलाया कि नए आने वाले कोरोना मामलों में उल्लेखनीय कमी आने के बावजूद खतरा अभी पूरी तरह टला नहीं है, इसलिए प्रत्येक स्तर पर पूरी सतर्कता और सावधानी की आवश्यकता है।

प्रदेश में अब तक 5.96 लाख लोग ई-संजीवनी एप से ऑनलाइन कंसल्टेंशन का लाभ भी ले चुके हैं। इस मामले में भी उत्तर प्रदेश पूरे देश में अव्वल है। सीएम ने ई-संजीवनी ऐप का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश देते हुए कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इससे जोड़ा जाए। उन्होंने कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त रखने की सलाह दी। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि लोगों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क लगाने जैसी सलाहों के साथ कोरोना के खिलाफ जागरूकता फैलाई जाए।

उन्होंने जागरूकता सृजन की कार्यवाही में विभिन्न संचार माध्यमों के साथ-साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का भी व्यापक उपयोग किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने टेस्टिंग कार्य पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश देते हुए फोकस टेस्टिंग किए जाने पर जोर दिया। सीएम ने कहा, “समस्त जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी अपने जनपदों में वैक्सीनेट किए गए लोगों का डाटा नियमित रूप से प्रतिदिन शाम 5 बजे तक पोर्टल पर दर्ज कराएँ। कोविड वैक्सीनेशन कार्य की नियमित मॉनिटरिंग की जाए।”

हाल ही में ये भी खबर आई थी कि योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाला उत्तर प्रदेश, 19.48 लाख करोड़ रुपए के साथ सकल राज्य घरेलू उत्पाद (GSDP) के मामले में भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया है। 2019-2020 में यूपी पाँचवें स्थान पर था और 2020-2021 में, उसने तमिलनाडु के साथ अपनी स्थिति बदलने के लिए, तीन रैंक की छलाँग लगाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *