गाय के नाम पर वोट मांगना और राजनीति करना ‘पाप’ है: अरविंद केजरीवाल

सोनीपत। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि गाय के नाम पर वोट मांगना ‘पाप’है. उन्होंने बीजेपी नीत हरियाणा सरकार पर मवेशियों के चारा के लिए पर्याप्त कोष नहीं आवंटित करने का आरोप लगाया. आम आदमी पार्टी (आप) प्रमुख ने सोनीपत के सैदपुर गांव में एक गौ आश्रय स्थल का निरीक्षण किया.

केजरीवाल ने गांव की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘गाय के नाम पर वोट मांगना और राजनीति करना पाप है, जो कि देश में अभी हो रहा है.” उन्होंने दावा किया कि दिल्ली सरकार बवाना में ‘देश का सर्वश्रेष्ठ’ गौ आश्रयस्थल चला रही है.

गाय के लिए चारे का इंतजाम भी कीजिए
इससे पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्‍ली में शुक्रवार को कहा कि जो लोग गाय के नाम पर वोट मांगते हैं उन्हें उनके लिए चारा भी उपलब्ध कराना चाहिए. उन्होंने यह टिप्पणी तब की जब उन्हें बवाना के दौरे में बताया गया कि भाजपा के नेतृत्व वाली एमसीडी ने दो साल से इलाके में एक गोशाला को फंड जारी नहीं किया है.

विकास मंत्री गोपाल राय के साथ मुख्यमंत्री ने उत्तर पश्चिम जिले में बवाना में दिल्ली सरकार तथा नगर निगम के वित्त पोषित ‘श्री कृष्ण गोशाला’’ का दौरा किया. गोशाला के दौरे के बाद केजरीवाल ने पत्रकारों से कहा कि आम आदमी पार्टी गाय के नाम पर वोट नहीं मांगती. गोशाला के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि भाजपा शासित एमसीडी ने दो वर्षों से अपने हिस्से के फंड जारी नहीं किए हैं. इसकी वजह से उन्हें दिक्कतें आ रही हैं.

केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली सरकार ने गोशाला को अपने हिस्से की निधि जारी कर दी है लेकिन एमसीडी ने अभी तक अपना हिस्सा नहीं दिया. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘जो गाय के नाम पर वोट मांगते हैं उन्हें गायों को चारा भी देना चाहिए.’’

उन्होंने किसी का नाम लिए बगैर पत्रकारों से कहा, ‘‘उन्हें गायों के नाम पर वोट मिलते हैं लेकिन वे गायों को चारा देने से इनकार करते हैं जो सही नहीं है. गायों पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए.’’

उन्होंने कहा कि मंत्री राय और आप सरकार ने हाल ही में पक्षियों और पशुओं के लिए एक नीति पेश की है. घुम्मन हेड़ा इलाके में एक गोशाला का ‘‘आधुनिकीकरण’’ किया जाएगा. श्री कृष्ण गोशाला 36 एकड़ से अधिक क्षेत्र में फैली है. इसमें 7,740 मवेशी रखे जाने की क्षमता है और वहां 7,552 मवेशी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *