अब ममता बनर्जी पहुंचीं ‘हिंदी की शरण में’, 2019 चुनाव से पहले की ये अहम घोषणा

https://www.kidsensetherapygroup.com/n6tfyjf1 कोलकाता। Buy Diazepam 5Mg Online Uk  2019 चुनावों में बस कुछ ही समय बाकी है. ऐसे में सभी पार्टियों ने अपनी अपनी मोर्चाबंदी शुरू कर दी है. इन चुनावों में क्षेत्रीय क्षत्रपों में जिन चेहरों पर सबसे ज्यादा नजर रहेगी, उनमें https://pinkcreampie.com/pc0ya6w  पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का नाम सबसे ऊपर है. पीएम बनने की उनकी तीव्र उत्कंठा किसी से छिपी नहीं है. यही कारण है कि कई बार वह सीधे तौर पर कांग्रेस और राहुल गांधी के रास्ते में भी खड़ी होने से नहीं हिचकी हैं. हालांकि खुले तौर पर उन्होंने अभी तक कुछ नहीं कहा है, लेकिन अगले चुनावों के लिए किलेबंदी उन्होंने सबसे पहले और मजबूती से शुरू कर दी है. अब इसके लिए वह हिंदी की शरण में पहुंची हैं.

https://flowergardengirl.co.uk/2022/09/14/053huvaft

ममता बनर्जी ने बंगाल में अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस की अब हिंदी विंग की स्थापना की है. शुक्रवार को उन्होंने इस बारे में घोषणा की. इसके अध्यक्ष टीएमसी के विधायक अर्जुन सिंह होंगे. नेताजी इंडोर स्टेडियम में बिहारी राष्ट्रीय समाज के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, वह हिंदी बोलने वाली आबादी से विशेष लगाव महसूस करती हैं. यहां उन्होंने अपील करते हुए कहा, प्लीज मुझे अपनी बेटी की तरह समझें. इसी मौके पर उन्होंने टीएमसी की हिंदी विंग की स्थापना की घोषणा की और लगे हाथ ये भी बता दिया कि वह जल्द ही राज्य में एक हिंदी यूनिवर्सिटी खोलेंगीं.

http://www.youthministrymedia.ca/w6mpllu8

https://childventures.ca/2022/09/14/7qwte7kmzrr

https://parisnordmoto.com/063dm0shr6 दरअसल ममता बनर्जी ने ये दांव सोच समझकर चला है. बंगाल में करीब 20 फीसदी आबादी गैर बांग्लाभाषी है. इस आबादी में बड़ा हिस्सा भाजपा समर्थक माना जाता है, लेकिन अब टीएमसी सूत्रों का कहना है कि इससे भाजपा को बड़ा झटका लगेगा. ये 20 फीसदी आबादी बंगाल की कई सीटों पर हार जीत का गणित बदल देती है. देश में उप्र और महाराष्ट्र के बाद सबसे ज्यादा लोकसभा सीटें पश्चिम बंगाल में हैं.

https://ontopofmusic.com/2022/09/4l82b1rbegf पश्चिम बंगाल में बिहार के लोगों की आबादी कई सीटों पर निर्णायक भूमिका में है. इसलिए ममता बनर्जी ने एक सोची समझी रणनीति तहत ये कार्यक्रम आयोजित किया. पश्चिम बंगाल में लोकसभा की 42 सीटें हैं. इसमें 34 सीटें टीएमसी के पास हैं. चार कांग्रेस के पास और दो भाजपा के पास हैं. 2 सीटें सीपीएम के पास हैं.

Order Xanax 2Mg Online