Oval Test Day 1 Analysis: काम आ गया भारतीय गेंदबाजों का धैर्य

ओवल (लंदन)। इंग्लैंड दौरे की टेस्ट सीरीज के आखिरी टेस्ट के पहले दिन टीम इंडिया के गेंदबाजों को धैर्य का बढ़िया फल मिला. टॉस जीतकर इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने पहले दिन अपने विकेट बचाने पर ज्यादा ध्यान दिया. इसमें इंग्लैंड कामयाब भी रहा जब तीसरे सत्र तक इंग्लैंड ने अपना स्कोर एक समय तक एक ही विकेट के नुकसान पर 133 रन हो गया. इसके बाद एक के बाद एक इंग्लैंड के तीन विकेट गिर गए और फिर नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे और दिन खत्म होते होते इंग्लैंड का स्कोर 7 विकेट के नुकसान पर 198 रन हो गया.

इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा रन एलिस्टर कुक ने (71) बनाए. उनके बाद मोईन अली के 50 रन रहे. इंग्लैंड के तीन खिलाड़ी शून्य पर आउट हुए. इनमें कप्तान जो रूट, जॉनी बेयरस्टॉ औक सैम कुरैन शामिल थे. भारत के लिए  ईशांत शर्मा ने तीन,  रवींद्र जडेजा ने दो और जसप्रीत बुमराह ने दो विकेट लिए.  इंग्लैंड के लिए  केटन जेनिंग्स ने 23, बेन स्टोक्स ने 11, जोस बटलर ने 11 और आदिल राशिद ने 4 रन बनाए.

शुरुआत मजबूत थी इंग्लैंड की 
टॉस जीतकर इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाजों ने टीम को मजबूत शुरुआत दी. इंग्लैंड ने पहले 23 ओवर में बिना कोई विकेट खोए 60 रन बना लिए थे. कुक ने 31 रन ब.ना लिए थे और केटन जेनिंग्स 23 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे. उससे पहले पारी के दूसरे ओवर में ही एलिस्टर कुक  ने अपने ओवल में अपने 1000 रन पूरे किए. टीम इंडिया को पहली सफलता पारी के 24वें ओवर रवींद्र जडेजा ने दिलाई. केएल राहुल ने जेनिंग्स को लेग स्लिप पर लपका.

इसके बाद लंच तक इंग्लैंड ने अपने विकेट बचाने में कामयबी हासिल की और केवल एक ही विकेट गंवाते हुए 28 ओवर में 68 रन बना लिए थे. टीम ने केवल केटन जेनिंग्स से रूप में एक विकेट गंवाया.

लंच के बाद शुरुआती ओवर्स में कुक और मोईन अली को बुमराह और ईशांत ने कुछ परेशानी में डाला
लंच के बाद इंग्लैंड ने अपनी पारी एक विकेट के नुकसान पर 68 रनों से आगे संभल कर खेलना शुरू किया. लंच के बाद ईशांत और बुमराह ने अपने पहले ओवर तो मेडन डाले. फिर ईशांत की गेंद पर, अजिंक्य रहाणे ने  कुक का कैच छोड़ा. उसके अगले ओवर में ही बुमराह की गेंद पर कप्तान विराट ने मोईन अली का कैच छोड़ दिया. तब तक दोनों बल्लेबाज लंच के स्कोर में एक भी रन नहीं जोड़ सके थे. इस तरह से लंच के बाद के पांच ओवर बुमराह और ईशांत ने मेडन ओवर डाल दिए.

दूसरे सत्र में विकेट संभाले रखा कुक  और मोईन ने
चाय तक इंग्लैंड ने केवल एक ही विकेट के नुकसान पर 123 रन बना लिए थे. दूसरे सत्र में इंग्लैंड ने कोई भी विकेट नहीं गंवाया. चाय तक कुक 66 रन बनाकर और मोईन अली 23 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे. टीम इंडिया के गेंदबाजों ने इस सत्र में बढिया गेंदबाजी की लेकिन इसके बाद भी उन्हें विकेट नहीं मिले. इस सत्र में कुक ने इस सीरीज का और अपने करियर का 57वां अर्धशतक लगाया.  इस सीरीज में कुक सफल नहीं रहे थे. अभी तक कुक ने इस सीरीज में 160 रन बनाए हैं और उन्होंने इस पारी में 71 बनाए.. कुक ने पहले टेस्ट में 13 और शून्य, दूसरे टेस्ट में 21 और 29, तीसरे टेस्ट की दोनों पारियों में 17, और चौथे टेस्ट में 12 रन बनाए थे. इस अर्धशतक को पूरा करने में कुक ने 141 गेंदें खेलीं.  उससे पहले  सत्र के 18वें ओवर में टीम का स्कोर  100 रन के पार पहुंचाया.

VIDEO: एलिस्टर कुक के आखिरी टेस्ट में टीम इंडिया ने दिया उन्हें यह सम्मान

दो ओवर में तीन विकेट गिर गए इंग्लैंड के
टीम इंडिया के गेंदबाजों का धैर्य तब काम आया जब दो सत्र तक केवल एक ही विकेट गंवाने वाली इंग्लैंड टीम के अचानक तीसरे सत्र में एक के बाद एक तीन विकेट लगातार गिर गए. बुमराह ने एक ही ओवर में दो विकेट लिए. जसप्रीत बुमराह ने टीम को एलिस्टर कुक को बोल्ड आउट कर दूसरी सफलता दिलाई. कुक को 71 रन के निजी स्कोर पर आउट हुए. कुक को बोल्ड करने के बाद बुमराह ने तीसरी गेंद पर ही जो रूट को शून्य के निजी स्कोर पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया. रूट ने रिव्यू भी लिया जो बेकार गया. इस तरह से बुमराह का यह ओवर डबल विकेट मेडिन हो गया इसके बाद ईशांत शर्मा ने अगले ही ओवर में जॉनी बेयरस्टॉ को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच करा दिया. बेयरस्टॉ खाता भी नहीं खोल सके. अब पारी के 65 ओवर के बाद इंग्लैंड का स्कोर 134 रनों पर चार विकेट हो गया था, जबकि दो ओवर पहले ही इंग्लैंड का स्कोर एक विकेट पर 133 रन था.

Jasprit Bumrah took two wicket

इंग्लैंड का पांचवा विकेट  बेन स्टोक्स के रूप में गिरा जब अचानक लगे तीन झटकों से इंग्लैंड उबर ही रही थी. उसी समय रवींद्र जडेजा ने बेन स्टोक्स को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया. स्टोक्स 11 रन बनाकर 171 बना कर पारी के 78वें ओवर में आउट हुए. इससे बाद मोईन अली ने धैर्य का परिचय देते हुए अपने करियर का 13वां अर्धशतक पूरा किया. मोईन का  यह अर्धशतक 147 गेंदों में आया.

मोईन अली अपना अर्धशतक पूरा होने के बाद ही ईशांत शर्मा की गेंद पर विकेट के पीछे ऋषभ पंत के हाथों आउट हो गए. इस तरह से इंग्लैंड का छठा विकेट 177 रन पर गिरा. उसके बाद उसी ओवर में ईशांत शर्मा ने सैम कुरैन को भी आउट कर इंग्लैंड का सातवां विकेट गिरा दिया. सैम कुरैन पहली बार इस सीरीज में खाता खोले बिना आउट हुए. यह टीम इंडिया के लिए बड़ा विकेट था. अब 181 रन के स्कोर पर इंग्लैंड के 7 विकेट गिर गए थे.

इस मैच के साथ कुक भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ी भी बन गए.  वहीं दूसरी ओर टीम इंडिया में हनुमा विहारी अपना पहले टेस्ट खेल रहे हैं. हनुमा विहारी को हार्दिक पांड्या की जगह चुना गया. विहारी भारत के लिए टेस्ट खेलने वाले 292वें टेस्ट खिलाड़ी बने. रविचंद्रन अश्विन की जगह रवींद्र जडेजा आए हैं. इंग्लैंड की टीम में ओल पोप और क्रिस वोक्स को शामिल नहीं किया गया.

INDvsENG: जानिए क्या हैं ओवल टेस्ट में टीम इंडिया के बदलाव के मायने

पिछले दो टेस्ट पारी से हारी है टीम इंडिया
सीरीज में चौथे टेस्ट में ही 1-3 से सीरीज गंवा चुकी टीम इंडिया ओवल में हो रहे टेस्ट में जीत के साथ सम्मानजनक विदाई के इरादे से उतरी है. पिछली बार साल 2014 में टीम इंडिया इंग्लैंड से ओवल में एक पारी ओर 244 रनों से मैच हारी थी, वहीं 2011 में भी इसे पारी से हार का सामना करना पड़ा था. तब इंग्लैंड  एक पारी और 8 रन से मैच जीती थी.  इसके बावजूद कहा जा रहा है कि टीम इंडिया के बल्लेबाजों  को ओवल का मैदान रास आता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *